यूपी नतीजों पर अमेरिका, पाक सहित अन्‍य देशों की मीडिया का रिएक्‍शन-

Yogi Adityanath
Yogi Adityanath

चुनाव डेस्‍क। देश में पांच राज्यों के चुनावी नतीजों पर पड़ोसी देशों पाकिस्तान और नेपाल के अलावा अमेरिका मीडिया की भी नजर रही। ज्यादातर विदेशी मीडिया इसे प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता और उनकी सियासी ताकत से जोड़कर देख रहा है। मीडिया में सबसे ज्यादा चर्चा भी उत्तरप्रदेश के नतीजों को लेकर हो रही है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून (पाकिस्तान) ने लिखा

इस अखबार ने अपनी वेबसाइट पर लिखाउत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है और यहां जीत के मायने बेहद अहम हैं। अगर गौर से देखें तो ये पता लगता है कि भारत की जनता का मूड क्या है। ये भी कहा जा सकता है कि अगले जनरल इलेक्शन के नतीजों का अंदाजा लगाना अब आसान हो गया है। मोदी की भारतीय जनता पार्टी ने 403 में से 250 से ज्यादा सीटें जीती हैं।

द डॉन (पाकिस्तान) ने लिखा

पाकिस्तान के सबसे बड़े अंग्रेजी अखबार ‘द डॉन’ ने लिखादेश के सबसे बड़े राज्य में मोदी की पार्टी की सबसे बड़ी जीत। इसे कई तरह से देखा जा सकता है, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि यह नतीजे 2024 में होने वाले लोकसभा इलेक्शन की झलक और नतीजों का अंदाजा देते हैं। भाजपा हिंदू राष्ट्रवादियों की पार्टी है और इसने 403 में से आधे से ज्यादा सीटें जीती हैं। ऑफिशियल रिजल्ट्स भले ही कुछ घंटे बाद सामने आएं, लेकिन कोई बहुत बड़ा बदलाव तो नहीं होने वाला।

न्यूयॉर्क टाइम्स (अमेरिका) ने लिखा

NYT ने लिखाभारत के सबसे बड़े राज्य में मोदी की पार्टी ही सत्ता में बरकरार रहेगी। ये जीत इसलिए भी अहम हो जाती है, क्योंकि आर्थिक तौर पर लोगों की मुश्किलें कम नहीं हुईं। मोदी की जीत इस लिहाज से भी अहम है, क्योंकि 30 साल से ज्यादा वक्त बाद कोई पार्टी लगातार दूसरी बार सरकार बनाने जा रही है। इस जीत से योगी आदित्यनाथ और मजबूत होंगे। उन्हें मोदी का संभावित उत्तराधिकारी माना जाता है। योगी एक कट्टरपंथी हिंदू संत हैं। ये बात सही है कि 2017 के मुकाबले भाजपा की सीटें यूपी में कम हुई हैं, लेकिन इसके बावजूद वो आराम से और पूर्ण

वॉशिंगटन पोस्ट (अमेरिका) ने लिखा

इस अखबार ने लिखामोदी की अगुआई वाली BJP की जीत का सिलसिला जारी है। पांच राज्यों में चुनाव हुए, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा उत्तर प्रदेश की हो रही है। यहां जीत से मोदी और ज्यादा मजबूत होंगे। वो सेक्यूलर स्टेट की बजाए हिंदू कंट्री के विजन को ज्यादा तवज्जो दे पाएंगे। 403 में से 250 से ज्यादा सीटें जीतने का मतलब ये है कि वहां एक ताकतवर सरकार बनेगी। आर्थिक दिक्कतों के बावजूद ये साबित हो गया है कि मोदी की लोकप्रियता न सिर्फ बरकरार है, बल्कि बढ़ी ही है।

बीबीसी (ब्रिटेन) ने लिखा

बीबीसी के मुताबिकमोदी और भाजपा ने उत्तरप्रदेश के 30 साल के इस मिथक को तोड़ दिया कि वहां कोई भी पार्टी दूसरी बार सरकार नहीं बना पाती। इस पार्टी ने बहुत आसान जीत दर्ज की, जबकि इसे बहुत कठिन मुकाबला माना जा रहा था। खुला सिर और भगवा पहनने वाले संत से सियासतदान बने योगी अब दूसरी बार सरकार चलाएंगे। लोग उन्हें देखने और सुनने के लिए बड़ी तादाद में जुटते हैं।

काठमांडू पोस्ट (नेपाल) ने लिखा

नेपाल के इस अंग्रेजी अखबार ने उत्तर प्रदेश से ज्यादा तवज्जो पंजाब के नतीजों को दी। इसने अपनी वेबसाइट पर लिखाअब दिल्ली मॉडल पर चलने के लिए पंजाब तैयार है। अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने ये दिखा दिया है कि छोटी पार्टियां अगर ईमानदारी से काम करें तो बड़े स्तर पर जीत दर्ज कर सकती हैं। दिल्ली में दो बार सरकार बनाने के बाद अब केजरीवाल संवेदनशील पंजाब की कमान संभालेंगे।