Thursday, June 13, 2024
Hometrendingदेशनोक धाम अब धार्मिक पर्यटन के साथ इकोट्यूरिज्म सेंटर के रूप में...

देशनोक धाम अब धार्मिक पर्यटन के साथ इकोट्यूरिज्म सेंटर के रूप में भी होगा विकसित

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

Karni mataji Temple Desnok Bikaner
Karni mataji Temple Desnok Bikaner

बीकानेर Abhayindia.com बीकानेर जिले के कस्‍बे देशनोक को जिले मे ऐतिहासिक और धार्मिक पर्यटन के साथसाथ इकोट्यूरिज्म के नए सेंटर के रूप में विकसित किया जाएगा। संभागीय आयुक्त डॉ नीरज के पवन ने गुरुवार को इस संबंध में बैठक लेकर सम्बंधित अधिकारियों को इस दिशा में रूपरेखा बनाते हुए कार्य प्रारम्भ करने के निर्देश दिए। आपको बता दें कि देशनोक में करणी माताजी का जगप्रसिद्ध मंदिर हैं। यहां हर साल लाखों श्रद्धालु माताजी के दर्शनों के लिए आते हैं। संभागीय आयुक्त ने बताया कि एक धार्मिक पर्यटन केंद्र के रूप में देशनोक वैश्विक पटल पर अपनी अलग पहचान रखता है। इस पहचान को बनाए रखते हुए यहां की ऐतिहासिक और पर्यावरणीय विशेषता को भी पर्यटकों के लिए आकर्षण के नए केन्द्र के रूप में सामने लाने के लिए समन्वित प्रयासों की आवश्यकता है। उन्‍होंने बताया कि पर्यटन उद्योग के माध्यम से स्थानीय रोजगार बढाने के लिए ओरण, तलाईयों व अन्य मंदिरों बावड़ियों के जीर्णोद्वार पर ध्यान दिया जाए। ऐतिहासिक तलाइयों में पानी के लिए वर्षा जल संग्रहण व ट्यूबवेल आदि की व्यवस्था भी की जाए।

उन्होंने कहा कि मंदिर ट्रस्ट पर्यटकों के विश्राम के लिए दो अतिरिक्त विश्राम स्थल बनवाएं साथ ही पास स्थित शिव पार्क में नई सुविधाएं विकसित करने के साथ नगरपालिका एक नया पार्क भी विकसित करें।

जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि देशनोक ओरण में यहां की जलवायु और इकोसिस्टम के अनुसार सघन वृक्षारोपण करवाते हुए इस केंद्र को पर्यटन उद्योग की दृष्टि से विकसित किया जा सकता है। उन्होंने 27 किलोमीटर के परिक्रमा पथ पर पौधारोपण की बात कही। संभागीय आयुक्त ने बताया कि चतुर्दशी के दिन यहां की ओरण में एक साथ 14 हजार 444 पौधे लगाए जाएंगे। संभागीय आयुक्त ने मुख्य सड़क से मंदिर तक पहुंचने के रास्ते के सौंदर्यीकरण के लिए नगर पालिका, पीडब्ल्यूडी और मंदिर ट्रस्ट को समन्वित रूप से कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मंदिर के आसपास नगर पालिका एक हस्तशिल्प बाजार और फूड जोन विकसित करें जहां महिलाओं एसएचजी द्वारा निर्मित उत्पादों का विक्रय किया जा सके। संभागीय आयुक्त ने देशनोक में भिक्षावृत्ति उन्मूलन के लिए विशेष अभियान चलाने के लिए पुलिस को निर्देश दिए।

सार्वजनिक स्थान पर शराबवृति पर हो कड़ी कार्यवाही : डॉ नीरज के पवन ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर या मंदिर के आसपास यदि कोई व्यक्ति शराबवृत्ति करता पाया गया तो उसके विरुद्ध एक्शन लिया जाएगा। लपकों के विरूद्ध भी पुलिस सख्ती से कार्यवाही करें।

नेहड़ीजी मंदिर का भी हो विकास : संभागीय आयुक्त ने कहा कि करणी माता पैनोरमा के पास स्थित नेहड़ीजी मंदिर का भी जीर्णोद्वार हो साथ ही इस मंदिर, ओरण व करणी माता के ऐतिहासिक तथ्यों को संकलित करते हुए ट्रस्ट एक फोल्डर प्रकाशित करवाएं। देशनोक के सभी होटल, धर्मशालाओं के कमरों में ये सूचनाएं विस्तार से चस्पा हों। पर्यटकों को भी ये ब्रोशर उपलब्ध करवाएं। जिससे मंदिर आने वाले पर्यटकों को यहां के अन्य दर्शनीय स्थलों के बारे में सूचना मिल सके। संभागीय आयुक्त डॉ पवन ने कहा कि देशनोक में गणगौर मेले का व्यापक स्तर पर आयोजन करवाया जाएगा।

अतिक्रमण मुक्त हो मुख्य बाजार : संभागीय आयुक्त ने कहा कि देशनोक के मुख्य बाजारों में अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पर्यटक यात्री परेशान ना हो। साफ सफाई की विशेष ध्यान रखते हुए बाजारों को अतिक्रमण मुक्त करवाएं। उन्होंने पार्किंग सहित विभिन्न व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

बस स्टैंड पर ही रुकें बसें : डॉ पवन ने कहा कि परिवहन और पुलिस आपसी समन्वय से यह सुनिश्चित करेंगे कि देशनोक में आने वाली समस्त बसें बस स्टैंड पर ही रुकें इसके लिए सम्बंधित को पाबंद करें। नियमित निगरानी हो।

हाईवे पर ना खड़े हो ट्रक : संभागीय आयुक्त ने कहा कि परिवहन विभाग पुलिस के साथ मिलकर यह सुनिश्चित करें कि बीकानेर शहर से निकलने वाले सभी राष्ट्रीय राजमार्गों तथा स्लिप लाइन में कहीं भी ट्रक खड़े ना हों। शहर के मुख्य मार्ग खुले रहें जिससे दुर्घटना और ट्रैफिक जाम जैसी स्थिति ना बने। उन्होंने कहा कि करमीसर फांटा से नाल रोड तक कई स्थानों पर ट्रकों के सड़क के किनारे खड़े होने की शिकायत मिल रही है। इसमें सुधार करवाएं।

बैठक में देशनोक नगर पालिका चेयरमैन ओमप्रकाश मूंदड़ा, नेता प्रतिपक्ष प्रियंका चारण, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त एएच गौरी, अतिरिक्त जिला कलेक्टर (शहर) पंकज शर्मा सहित ट्रस्ट के प्रतिनिधि और अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad
- Advertisment -

Most Popular