Tuesday, April 16, 2024
Hometrendingतीन दशक पुरानी मांग हुई पूरी, अब शेखावाटी की जमीन भी उगलेगी...

तीन दशक पुरानी मांग हुई पूरी, अब शेखावाटी की जमीन भी उगलेगी सोना : भजनलाल

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

जयपुर Abhayindia.com मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि वर्षों से लम्बित ऐतिहासिक ताजेवाला हैडवर्क्स समझौते से शेखावाटी क्षेत्र के लोगों के लिए पेयजल तथा सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में जल की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी तथा यह धरती भी सोना उगलेगी। उन्होंने आश्वस्त किया कि हमारी डबल इंजन सरकार यमुना जल समझौते पर प्रथम चरण में पेयजल हेतु डीपीआर 4 माह में बनाने के साथ ही अपने इसी कार्यकाल में शेखावाटी में पानी पहुंचाने का काम करेगी।

शर्मा ने शनिवार को शेखावाटी क्षेत्र के नीम का थाना तथा झुन्झुनू में आयोजित यमुना जल समझौता धन्यवाद सभा को संबोधित किया। ताजेवाला हैडवर्क्स से संबंधित ऐतिहासिक एमओयू करने के बाद मुख्यमंत्री खेतड़ी नगर, नवलगढ़ तथा श्रीमाधोपुर पहुंचे। वहां पर लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया तथा उन्हें जगह-जगह मालाएं पहनाकर आभार प्रकट किया

30 साल से लंबित था बंटवारा

मुख्यमंत्री ने बताया कि यमुना जल बंटवारा समझौता वर्ष 1994 से लंबित था, पूर्ववर्ती सरकार द्वारा इस पर केवल राजनीति की गई, शेखावाटी अंचल की पेयजल की गंभीर समस्या पर कभी ध्यान ही नहीं दिया गया। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस दर्द को समझा और शेखावटी क्षेत्र की तीन दशक पुरानी पेयजल समस्या का समाधान करने के लिए केन्द्र सरकार, हरियाणा सरकार और राजस्थान सरकार ने ऐतिहासिक यमुना जल समझौता किया। शेखावाटी की जनता के लिए यह समझौता वरदान साबित होगा।

उन्होंने आश्वस्त किया कि यमुना जल समझौते में राजस्थान के लिए 1994 में जिस मात्रा में पानी मिलने का वायदा किया था वो पूरा पानी प्रदेश की जनता को मिलेगा। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के माध्यम से 3 पाइपलाइन के माध्यम से यमुना नदी का पानी राज्य के 4 जिलों सीकर, चुरु, झुन्झुनूं तथा नीमकाथाना को उपलब्ध हो सकेगा। इसके तहत ताजेवाला हैड पर मानूसन के दौरान राजस्थान को अपने हिस्से का 577 एमसीएम (मिलियन क्यूबिक मीटर) जल प्राप्त होगा।

देश में हो रहा चहुंमुखी विकास

शर्मा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री चौधरी चरण सिंह एवं स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने जीवनपर्यन्त किसानों के सम्मान के लिए काम किया तथा उन्हीं से प्रेरणा लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों के कल्याण के लिए नित नए निर्णय ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि विकसित भारत संकल्प यात्रा के माध्यम से केन्द्र सरकार द्वारा योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुंचना सुनिश्चित किया गया। केन्द्र सरकार द्वारा युवा, किसान, महिला तथा गरीब कल्याण के लिए निरन्तर विभिन्न योजनाओं को सफलतापूर्वक लागू किया जा रहा है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश हर क्षेत्र में चहुंमुखी विकास कर रहा है। वर्ष 2014 के बाद देश आमूलचूल परिवर्तन का साक्षी बना है।

पेयजल, सिंचाई के लिए दी सौगातें

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पेयजल और सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सरकार प्राथमिकता के साथ कार्य कर रही है। इसी दिशा में हमारी सरकार ने गठन होने के 2 माह के भीतर ही दो बड़े ऐतिहासिक अहम समझौते हुए हैं। यमुना जल का समझौता होने से शेखावटी क्षेत्र के लोगों की तीन दशक पुरानी मांग पूरी हुई है। साथ ही, केन्द्र सरकार, मध्यप्रदेश और राजस्थान की सरकार के मध्य हुए एकीकृत ईआरसीपी के मूर्त रूप लेने से पूर्वी राजस्थान में पेयजल एवं सिंचाई के लिए भरपूर जल उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने कहा कि हाल ही में उदयपुर में देवास तृतीय एवं चतुर्थ परियोजना की नींव रखी है, जिससे आने वाले समय में उदयपुर की झीलों में जल की उपलब्धता के साथ ही पेयजल की समस्या का समाधान हो सकेगा।

अपराधी नहीं बचेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार सभी वर्गां के कल्याण के लिए कृत संकल्पित है। इसी दिशा में सरकार द्वारा 73 लाख परिवारों को 450 रुपए में गैस सिलेण्डर, किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि 6 हजार रुपए से बढ़ाकर 8 हजार, गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर 125 रूपए प्रति क्विंटल का अतिरिक्त बोनस देने, सामाजिक सुरक्षा पेन्शन को एक हजार 150 रुपए करने जैसे महत्वपूर्ण निर्णय किए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा संगठित अपराधों की रोकथाम के लिए एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स तथा पेपरलीक की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि अपराधियों को किसी भी हाल में नहीं बख्शा जाएगा।

इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री सुरेश रावत, नगरीय विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) झाबर सिंह खर्रा, सांसद नरेन्द्र खीचड़, सुमेधानन्द सरस्वती, विधायक धर्मपाल गुर्जर, विक्रम सिंह जाखल, सुभाष मिल, गोवर्धन वर्मा सहित जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित रहे।
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular