तूल पकडऩे लगा है निराश्रित गौवंश का मुद्दा

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। शहर में स्वच्छंद विचरण करने वाले निराश्रित गौवंश को सुरक्षित ठिकाने पर शिफ्ट करने की मांग का मुद्दा अब तूल पकडऩे लगा है। पिछले कुछ दिनों से शहर जिला महिला कांग्रेस इस मुद्दे पर प्रशासन और नगर निगम को घेर रही है। इसी तरह हाल में शहर के नामचीन कलाकारों ने भी अनूठा प्रदर्शन किया था। लोकनायक शहीद भगत सिंह संस्थान के कलाकार कोटगेट से नगर निगम तक करीब ढाई किमी घुटनों के बल चले।

इसके चलते अब नगर निगम अमला भी सक्रिय हो गया है। निगम ने हाल में तुलसी सर्किल पर हरा चारा बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई की है।
गौरतलब है कि बीते दशकों में शहरवासियों ने कांगे्रस और भाजपा दोनों के ही शासनकाल देख लिए है, लेकिन निराश्रित गौवंश की समस्या का निदान कोई भी नहीं करा सका। सवाल तो यह उठता है कि आखिरकार दोनों ही दल के नेता मिल-बैठकर इस मुद्दे पर सरकार को सहमत करने की जहमत क्यों नहीं उठा पा रहे है? दोनों दलों के नेता यदि ईमानदारी से इस मुद्दे पर एकजुट होकर कदम उठाए तो निश्चित तौर पर सरकार भी संवेदनशील होकर कोई अदद फैसला ले सकती है।

बहरहाल, निराश्रित गौवंश के नाम पर हो रही राजनीति का दंश आमजन झेलने को विवश हो रहा है। आए दिन इसकी वजह से हादसे हो रहे हैं। कई जनों की जान तक जा चुकी है। निगम को लाखों रुपए का मुआवजा तक देना पड़ गया है। इसके बावजूद इस समस्या को घसीटने की आदत से सिस्टम बाज नहीं आ रहा है।