Thursday, July 18, 2024
Hometrendingजीवन का आभूषण है संयम, इसके आगे सब शून्‍य : मीनाक्षी सामसुखा

जीवन का आभूषण है संयम, इसके आगे सब शून्‍य : मीनाक्षी सामसुखा

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

बीकानेर Abhayindia.com तेरापंथ महिला मंडल गंगाशहर की ओर से दीक्षार्थी बहन मीनाक्षी सामसुखा के अभिनंदन में बरनोला व भजन का कार्यक्रम महिला मंडल भवन में आयोजित किया गया।

इस अवसर पर साध्वीश्री चरितार्थ प्रभा ने मंगलपाथेय प्रदान करते हुए संयम पथ पर बढ़ने के लिए प्रेरित किया और साध्वी श्री प्रांजल प्रभा ने चौमासा में जप, तपस्या आदि आध्यात्मिक प्रवृतियां करते हुए कर्म निर्जरा कर आत्मा को निर्मल बनाने की प्रेरणा दी।

अध्यक्षा संजू लालाणी ने बताया कि सभी बहनों ने आगामी 19 तारीख को दीक्षार्थी बहन के दीक्षा दिवस पर यथा संभव त्याग जैसे माला, नवकारसी, पोरसी, उपवास, स्वाध्याय, मौन आदि त्याग मय भेंट दीक्षार्थी बहिन को समर्पित किए। दीक्षार्थी बहन मीनाक्षी सामसुखा ने कम से कम परिग्रह रखते हुए सभी को संयमित जीवन शैली अपनाने की प्रेरणा दी। उन्होंने बताया संयम ही जीवन का सबसे कीमती आभूषण है, इस आभूषण के आगे सभी भौतिक आभूषणों की कीमत शून्य है। उन्होंने बहनों को यथाशक्य त्याग भी करवाएं। मंत्री मीनाक्षी आंचलिया ने बताया कि कुल 40 बहिनों की उपस्थिति में भजनों व आध्यात्मिक गेम्स द्वारा सुंदर कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular