…नहीं तो करेंगे रेल का चक्काजाम, रेल के इस श्रमिक नेता ने कही बड़ी बात…

नार्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलाइज यूनियन के महामंत्री मुकेश माथुर!

बीकानेर Abhayindia.com रेल कार्मिकों को अब तब बोनस नहीं मिलने रेल श्रमिक संगठनों में आक्रोश बढ़ रहा है। निर्धारित समय पर बोनस नहीं देने पर रेल श्रमिक नेताओं ने चक्काजाम करने की चेतावनी भी दी है।

इस संबंध में  नार्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलाइज यूनियन के महामंत्री मुकेश माथुर ने रविवार शाम को बीकानेर के मंडल मंत्री अनिल व्यास व यूनियन के समस्त पदाधिकारियों के साथ ऑन लाइन बैठक की । इसमें मुकेश माथुर ने ए एआईआरएफ स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में लिए गए निर्णय से सभी को अवगत करवाया।

उन्होंने बताया कि एआईआरएफ स्टैंडिंग कमेटी की बैठक 16 अक्टूबर को हुई है, जिसमे बोनस, निजीकरण, निगमीकरण, पुरानी पेंशन लागू करने,डीए, नाईट डयूटी एलाऊंस व मान्यता के चुनाव समेत तमाम मुद्दों पर चर्चा की गई है।

माथुर के अनुसार तमाम मुद्दों पर लगातार रेलमन्त्री, बोर्ड के सीईओ सहित सरकार के विभिन्न मंत्रियों से बात हो रही है, इस दौरान फेडरेशन की मांग का समर्थन किया जा रहा है लेकिन आदेश अभी तक जारी नहीं हुए है। इससे कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। संगठन के पदाधिकारी के अनुसार रेल मंत्रालय ने बोनस देने का प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को भेज दिया है लेकिन फाइल अभी तक वही लंबित है।

चक्का जाम के लिए रहे तैयर…

माथुर ने कहा कि 20 अक्टूबर को बोनस डे मनाया जाएगा और बोनस की घोषणा नहीं होने पर रेल का चक्का जाम करने के लिए भी तैयार रहना है। श्रमिक नेता ने कहा कि सरकार हर वर्ष दुर्गा पूजा से पूर्व बोनस की घोषणा कर देती है इस बार जबकि 78 दिनों के बोनस के लिए प्रस्ताव भी भेज दिया लेकिन बोनस की घोषणा अभी तक नही की है इसलिए सभी रेल कर्मचारियों को 20 अक्टूबर को बोनस डे मनाना है।

इस दौरान सभी शाखाओ से जॉन स्तर पर धरना, प्रदर्शन, रैली का किया जाएगा। एआईआरएफ की स्टैंडिंग कमेटी में यह निर्णय भी लिया है कि सरकार को 21 अकटुबर तक का समय दिया गया है इस दौरान अगर बोनस का एलान नही किया गया तो 22 अक्टूबर को सीधी कार्यवाही करते हुए रेल का चक्का जाम करेंगे।