कैंसर की अज्ञानता के कारण हम इस बीमारी को प्रथम स्टेज पर नहीं पहचान पाते : डॉ. रनदीप सिंह

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज़ )। कोठारी अस्पताल बीकानेर में आर्टेमिस अस्पताल गुडग़ांव के कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. रनदीप सिंह ने प्रेस कॉन्फेंस को संबोधित करते हुए कहा कि विश्वभर में बीमारियों से होने वाली मौतों में कैंसर बीमारी दूसरे नंबर पर है।

डब्ल्यू एव ओ हर साल 4 फरवरी को विश्व कैंसर दिवस मनाता है, ताकि इस भयावह बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता आये। भारत में कैंसर महामारी का रूप ले चुका है। डॉ. सिंह प्रेस कॉन्फेंस में पत्रकारों को बताया कि इसके कई कारण है, जैसे कि बदलती हुए जीवन शैली, तम्बाकू या शराब का सेवन, मोटापा, पेस्टिसाइड एवं रासायनिकरण, जंक फूड व अनुवांकिश्क।

कैंसर की अज्ञानता के कारण हम इस बीमारी को प्रथम स्टेज पर नहीं पहचान पाते है, जिसकी वजह से मृत्यु दर बढ़ता जा रहा है। यह एक भ्रांति है कि कैसर असाध्य रोग है, कैंसर रोग का इलाज संभव है अगर सही समय पर अनुभवी चिकित्सक से परामर्श लेकर इलाज करवाया जाये।

मेडिकल साइंस के शोध के अनुसार आधुनिक तकनीक व दवाईयों द्वारा कैंसर जैसी महामारी से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन इसके लिए आमजन में जागरूकता होना अत्यंत आवश्यक है। आज की प्रेस कांफ्रेंस का मुख्य उद्देश्य आमजन को जागरूक करना है कि कैंसर से परेशान नहीं होना है बल्कि इसका इलाज सही समय पर लेना है जो कि बीकानेर में भी संभव है। इसके लिए गुडगांव के आर्टेमिस अस्पताल व कोठारी अस्पताल बीकानेर के संयुक्त तत्वाधान में डॉ. रनदीप सिंह जो कि गुडगांव के आर्टेमिस अस्पताल में कैंसर विभाग के विभागाध्यक्ष व डायरेक्टर है कि परामर्श सेवाएं प्रत्येक माह के दूसरे मंगलवार को उपलब्ध कराई गई है।

कैंसर से बचाव :

1. नियमित रूप से शारीरिक जाँच करवाना

2. महिलाओं के लिए मैमोग्राफाी (साल में एक बार) एवं पेप-स्मीयर (३ साल में एक बार)

3. तम्बाकू एवं शराब के सेवन को रोकना

4. लक्षण का पता चलते ही कैंसर विशेषज्ञ से परामर्श करना

5. वजन कम करना