Tuesday, April 16, 2024
HometrendingBikaner News : भगवान महावीर स्वामी के मंदिर में स्नात्र पूजा

Bikaner News : भगवान महावीर स्वामी के मंदिर में स्नात्र पूजा

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

Bikaner. Abhayindia.com श्री चिंतामणि जैन मंदिर प्रन्यास के तत्वावधान में रविवारीय मंदिर चैत्य वंदन व पूजा कार्यक्रम के तहत रविवार को डागा की पिरोल के सामने स्थित भगवान महावीर स्वामी के मंदिर में खरतरगच्छ ज्ञान वाटिका के बच्चों व उनके अभिभावकों ने स्नात्र पूजा की गई।

ज्ञान वाटिका की प्रधानाध्यापिका सुनीता नाहटा, पवन खजांची व ज्ञान सेठिया के नेतृत्व में बच्चों ने नवंकार महामंत्र का जाप, सामूहिक क्षमापना सहित विविध जैन विधि से पूजा की । पूजा करने वाले बच्चे धोती, बनियान के पूर्ण गणवेश मेंं, मुंह पर मुंहपति लगाएं थे।

श्री चिंतामणि जैन मंदिर प्रन्यास के अध्यक्ष निर्मल धारीवाल ने बताया कि बच्चों में श्रद्धा व उमंग और देव, गुरु व धर्म के प्रति समर्पण को देखते हुए हरीसिंह, विमला देवी पारख, कांति लाल, अमित पारख, भीखमचंद बरड़िया, त्रिलोकचंद, सुरेन्द्र कुमार गुलगुलिया, श्री जैन मंत्रास परिवार व प्रमोद गुलगुलिया ने प्रभावना से बच्चों का अभिनंदन किया।

भांडाशाह जैन मंदिर में सत्रह भेदी पूजा व ध्वजारोहण आज

बीकानेर। पांच शताब्दी से अधिक प्राचीन, नींव में घी वाले मंदिर से विख्यात भांडाशाह जैन मंदिर में सोमवार आसोज सुदी 2 को सुबह साढ़े नौ बजे विचक्षण महिला मंडल की ओर से सत्रह भेदी पूजा उसके बाद ध्वजारोहण किया जाएगा।

श्री चिंतामणि जैन मंदिर प्रन्यास के अध्यक्ष निर्मल धारीवाल ने बताया कि मूलनायक जैन धर्म के पांचवें तीर्थंकर भगवान सुमति नाथ के साथ अन्य जैन मंदिरों में नई ध्वजा चढ़ाई जाएगी। भांडाशाह नाम के व्यापारी ने 1468 में बनवाना शुरू करवाया और इसे 1541 में उनकी पुत्री ने पूरा कराया था।

मंदिर का निर्माण भांडाशाह जैन द्वारा करवाने के कारण इसका नाम भांडाशाह पड़ा गया। जमीन से करीब 108 फीट ऊंचे इस जैन मंदिर में पांचवें तीर्थकर भगवान सुमतिनाथ जी मूल वेदी पर विराजमान हैं। वार्षिक ध्वजारोहण कार्यक्रम की तैयारियों को पूर्ण कर लिया है, गुजरात से जैन मांगलिक चिन्ह अंकित ध्वजाएं मंगवा ली गई है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular