भाटी ने सरकार पर लगाया बीकानेर विरोधी निर्णय लेने का आरोप

bhawar singh bhati
bhawar singh bhati

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। कोलायत विधायक भंवरसिंह भाटी ने राज्य सरकार पर बीकानेर विरोधी निर्णय लेने का आरोप लगाया है। भाटी ने कहा है कि राज्य सरकार पुर्नसंरचना के नाम पर मुख्य अभियन्ता सीएडी (पश्चिम), बीकानेर के कार्यालय को अतिरिक्त मुख्य अभियन्ता के रूप डाउनग्रेड कर मुख्यालय हनुमानगढ़ शिफ्ट करने की कोशिश कर रही है।

भाटी ने कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा स्वीकृत तकनीकी विश्वविद्यालय, इंजीनियरिंग कॉलेज के कार्मिकों को सेवा से निकालने एवं अब 43 वर्ष पुराने सीएडी कार्यालय को बीकानेर से हनुमानगढ़ शिफ्ट करने की कोशिश करना जन विरोधी निर्णय है। विधायक भाटी ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर कर मुख्य अभियन्ता सीएडी (पश्चिम), बीकानेर के कार्यालय को अतिरिक्त मुख्य अभियन्ता के रूप डाउनग्रेड कर मुख्यालय हनुमानगढ़ शिफ्ट करने की कार्यवाही को तत्काल निरस्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि मुख्यालय परिवर्तन करना बीकानेर की जनता एवं कार्मिकों के हितों पर कुठाराघात है।

उल्लेखनीय है कि हाल में भाजपा के कद्दावर नेता एवं पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी ने भी सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से पत्र के जवाब में सात माह की देरी करने के मुद्दे पर राज्य सरकार पर तंज कसा था। अब उनके प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस विधायक भंवरसिंह भाटी राज्य सरकार पर बीकानेर विरोधी निर्णय लेने का आरोप जड़ते हुए सरकार को घेरने की कोशिश कर रहे हैं। सियासी हलके में एक ही विधानसभा क्षेत्र के दो जनप्रतिनिधियों की ओर से आए इन बयानों की चर्चा जोर पकड़ रही है।