ग्रामीण पीएचसी-सीएचसी तक हो ऑक्सीजन की उपलब्धता : डॉ रवि प्रकाश शर्मा

abhayindia.com
abhayindia.com

बीकानेर abhayindia.com जिले में कोरोना संक्रमण रोकथाम के साथ-साथ उपचार हेतु उपलब्ध सेवाओं का विस्तार और सुदृढ़ीकरण किया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों तक समस्त दवाओं, उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। इसी क्रम में विशेष रुप से ऑक्सीजन की उपलब्धता हेतु समस्त सीएचसी पर ऑक्सीजन सिलेंडर तथा समस्त लेबर रूम में उपलब्ध ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को इस कार्य हेतु उपयोग में लाया जाएगा।

 

उक्त व्यवस्थाओं की रूपरेखा तैयार करने तथा अन्य मौसमी बीमारियों के नियंत्रण संबंधी समीक्षा हेतु अतिरिक्त निदेशक प्रशासन ग्रामीण स्वास्थ्य डॉ रवि प्रकाश शर्मा ने जिले के आला अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने स्पष्ट किया की कोविड-19 के साथ-साथ अन्य मौसमी बीमारियों के नियंत्रण संबंधी प्रयास भी प्राथमिकता से करने होंगे क्योंकि शरद ऋतु में मच्छरों के प्रजनन के लिए अनुकूल वातावरण हो चुका है और स्वाइन फ्लू के लिए भी अलर्ट रहने की जरूरत है।

उन्होंने सभी चिकित्सा अधिकारियों व जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोरोना की जांच नवीन स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर के अनुसार ही की जाए यानी कि हाई रिस्क समूह जैसे वृद्ध, गर्भवती महिलाएं, अन्य रोगों से पीड़ित व्यक्ति, कोरोना के लक्षण वाले व्यक्ति तथा उनके सीधे संपर्क में रहे व्यक्तियों की कोविड जांच चिकित्सकीय परामर्श अनुसार की जाए। ताकि वास्तव में जिन्हें जरूरत है उन्हें लंबी लाइनों का इंतजार ना करना पड़े वह उपचार भी जल्द से जल्द शुरू हो सके।

इससे पहले सीएमएचओ डॉ बी एल मीणा ने कोविड-19 सहित अन्य मौसमी बीमारियों की रोकथाम संबंधी प्रगति व किए जा रहे प्रयासों से अवगत करवाया। बैठक में निदेशालय जयपुर से आए विश्व स्वास्थ्य संगठन के क्षेत्रीय अधिकारी डॉ राकेश विश्वकर्मा, राज्य माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉ रुचि सिंह, डॉ रुचि चतुर्वेदी, डॉ असीम मलावत सहित डिप्टी सीएमएचओ डॉ इंदिरा प्रभाकर, आर सी एच ओ डॉ राजेश गुप्ता, एपिडेमियोलॉजिस्ट नीलम प्रताप सिंह, डीपीएम सुशील कुमार सहित समस्त ब्लॉक सीएमओ, सीएचसी प्रभारी तथा शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारी उपस्थित रहे। राज्य स्तरीय दल द्वारा जिला प्रशासन व मेडिकल कॉलेज प्रशासन के साथ भी बैठक कर कोविड 19 की रोकथाम के लिए व्यूह रचना तैयार की गई।

SHARE