तोगडिय़ा को किसका डर? वो ही करेंगे बड़ा खुलासा

205

अभय इंडिया डेस्क.
विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण भाई तोगडिय़ा को किसका डर सता रहा है? इसका खुलासा वे खुद ही करने वाले हैं। उन्होंने मीडिया से कहा कि वे समय आने पर डराने वालों के नामों का खुलासा कर देंगे और वो भी सबूतों के साथ। उन्होंने साफ कहा कि पुलिस मुझे राजनीतिक दबाव के चलते पकडऩे आई थी।
मेरे एनकाउंटर की साजिश की जा रही है।
हिन्दू नेता के रूप में दहाड़ मारने वाले तोगडिय़ा मंगलवार को मीडिया के सामने रोते हुए नजर आए। उन्होंने कहा कि मैं हिंदुओं की आवाज उठा रहा हूं। उनकी एकता के लिए काम कर रहा हूं। इसलिए मेरी आवाज दबाने की कोशिश की जा रही है। तोगडिय़ा ने कहा कि मैं राम मंदिर, गौ हत्या कानून बनाओ और कश्मीर में हिंदुओं के किए आवाज उठाता हूं। उन्होंने खुफिया एजेंसियां द्वार पुराने मामलों के आधार पर डराने की कोशिश करने का आरोप लगाया।
यह है तोगडिय़ा का डर
असल में, राजस्थान के जिले सवाई माधोपुर के गंगापुर न्यायालय ने करीब दस साल पुराने दंगे से जुड़े एक मामले में प्रवीण भाई के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। उन पर आरोप था कि उन्होंने स्थानीय प्रशासन की मंजूरी के बिना सभा की थी। कई बार जमानती वारंट जारी होने के बावजूद जब तोगडिया न्यायालय में पेश नहीं हुए तो उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था। इसे लेकर ही संभवत: पुलिस उनके पीछे पड़ी हुई है।