बहुचर्चित भंवरी हत्याकांड : अमरीका में हुई हड्डियों की जांच, कोर्ट में पेश

1408
bhawari devi file photo
bhawari devi file photo

जोधपुर (अभय इंडिया न्यूज)। प्रदेश के बहुचर्चित भंवरी देवी अपहरण व हत्या के मामले में गुरुवार को भी एससी-एसटी कोर्ट में सुनवाई चल रही है। इससे पहले बुधवार को सीबीआई ने कोर्ट के समक्ष जालोड़ा नहर से बरामद की गई भंवरीदेवी की हड्डियां व अन्य सामान को बंद बक्से में पेश किया। वहीं, दूसरी ओर से भंवरी के पति अमरचंद की ओर से सीबीआई के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार राठी से जिरह की गई। अब राठी से गुरुवार को आरोपी सोहनलाल की ओर से जिरह की जाएगी। सुनवाई के दौरान इस मामले की आरोपी इंद्रा विश्नोई सहित एक दर्जन आरोपियों को कोर्ट के समक्ष पेश किया गया।

बता दें कि छह साल पुराने भंवरी देवी हत्याकांड की जांच कर रही सीबीआई ने दावा किया था कि राजीव गांधी लिफ्ट नहर से जो जली हुई हड्डियां बरामद हुई थीं, वे भंवरी देवी की ही थीं, लेकिन एसएफएल इन हड्डियों से डीएनए निकालने में विफल रहा, इसलिए सैंपल अमरीका स्थित एफबीआई को भेजे गए थे। वहां से रिपोर्ट मिलने के बाद ही यह तय हो पाया था कि नहर में मिली हड्डियां भंवरी देवी की ही थीं।

यह है मामला

जोधपुर की भंवरी देवी वर्ष 2011 के अगस्त माह के अंतिम दिनों में अचानक एक दिन अपने घर से गायब हो गई थी। सीबीआई का दावा था कि भंवरी की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। बाद में शव जला कर उसकी राख को राजीव गांधी नहर में बहा दिया गया। नहर से सीबीआई ने कुछ हड्डियों के अवशेष खोज निकाले थे और दावा किया था कि हड्डियां भंवरी की ही हैं। सीबीआई ने कांग्रेस विधायक मलखान विश्नोई की बहन इंद्रा को इस पूरे केस का मास्टर माइंड माना था। करीब साढ़े छह वर्ष तक फरार रहने के बाद इंद्रा को मध्यप्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया गया था।