बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन

266
बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन करतीं सीनियर्स
बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन करतीं सीनियर्स
बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन करतीं सीनियर्स
बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन करतीं सीनियर्स

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। शहर के अंदरुनी क्षेत्र स्थित बिनानी कन्या कॉलेज में नए सत्र के अंतर्गत बी.ए., बी.कॉम., बी.एस.सी., बी.सी.ए. की फ्रेशर्स छात्राओं का सीनियर्स छात्राओं ने गर्मजोशी से अभिनंदन किया। उनके तिलक लगाकर मुँह मीठा करवाया गया। कार्यक्रम की शुरूआत माँ शारदे के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलन के साथ सरस्वती वंदना जय-जय हे वीणावादिनी… प्रस्तुति के साथ हुई।

कार्यक्रम के अगले चरण में सभी संकायों की नवागंतुक छात्राओं का महाविद्यालय में स्वागत करते हुए संकायवार सभी व्याख्याताओं ने अपना परिचय दिया। साथ ही छात्राओं को विषयवार कक्षाओं में नियमित सहभागिता के साथ अध्ययन करने की अपील की। छात्राओं को बढ़ते प्रतिस्पर्धी युग में अपने बेहतर करियर निर्माण के लिए अभी से जुट जाने का आह्वान किया।

बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन करतीं सीनियर्स
बिनानी कन्या कॉलेज में फ्रेशर्स का गर्मजोशी से अभिनंदन करतीं सीनियर्स

प्राचार्या डाँ. चित्रा पंचारिया ने सभी नवागुन्तक प्रवेशित छात्राओं का महाविद्यालय परिसर में स्वागत करते हुए कहा कि वे अब विद्यालय शिक्षा से महाविद्यालय शिक्षा में प्रवेश कर चुकी है और यह वह पड़ाव है जहाँ से अध्ययन का विस्तार विषय में आलोचनात्मक ट्टष्टि का प्रादुर्भाव तथा विषय का तुलानात्मक अध्ययन जैसे मूल्य एक विद्यार्थी अपने में सहेजता है। उन्होंने कहा कि आज के दिन मैं आपसे यही अपील करूंगी कि आप अपने पूर्ण मनोयोग से अध्ययन करें। अध्ययन को बोझ नहीं, बल्कि आनंद की विषय-वस्तु समझें तथा महाविद्यालय के श्रेष्ठ-परिणामों की गौरवमयी परम्परा को बरकरार रखें।

कम्प्यूटर विभागाध्यक्ष रामकुमार व्यास ने छात्राओं को शैक्षणिक शिक्षा के साथ-साथ तकनीकी शिक्षा प्राप्त करने का आह्वान करते हुए बताया कि वर्तमान में कम्प्यूटर शिक्षा का अत्यधिक महत्व है और आपकी शिक्षा में अनिवार्य कम्प्यूटर शिक्षा लागू की गई है जिसका अध्ययन आवश्यक रूप से करते हुए अपना ज्ञान इस विषय में बढ़ाने का प्रयत्न करें।