दो दिन तक पियक्कड़ों का ‘सूखा’, ब्लैक में बेचने वाले हुए सक्रिय

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। चुनावी आचार संहिता की पालना में शराब की तमाम दुकानें पांच बजे बंद हो गई जो अब शुक्रवार मतदान खत्म होने पर शाम पांच बजे बाद ही खुलेगी। आबकारी विभाग ने बुधवार को शाम शराब की दुकानों को सील चपड़ी कर बंद कर दिया। साथ ही अवैध शराब की बिक्री पर रोकथाम के लिए गश्त बढ़ा दी है।

चुनाव के दौरान शराब देकर मतदाताओं को प्रलोभित ना किया जा सके।जिला आबकारी अधिकारी ओपी पंवार के अनुसार शराब की दुकानें 48 घंटे बंद रहेगी। यदि किसी ने दुकान की सील तोड़ कर शराब बेचने की कोशिश की। तो उस दुकानदार के खिलाफ सख़्त कार्रवाई की जाएगी। सभी निरीक्षकों को अवैध शराब की बिक्री पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं।

‘आज और कल पल-पल कीमती’

चुनाव प्रचार थमने के बाद अब आज और कल का पल-पल चुनावी प्रत्याशियों के लिये कीमती है। इस लिहाज से उन्होने कल शाम से वोट माँगने के लिये घर-घर दस्तक देनी शुरू कर दी है। इधर, निर्वाचन विभाग और पुलिस ने निष्पक्ष और भयमुक्त चुनाव कराने के लिये पुख्ता बंदोश्त कर लिये है। जानकारी में रहे कि विधानसभा चुनाव में सार्वजनिक रूप से प्रचार करने पर बुधवार की शाम पांच बजे रोक लगा दी गई है। इसके बाद चहुंओर चुनावी शोर थम गया है। वहीं जिले की सातों विधानसभा सीटों पर चुनाव कराने के लिए मतदान दलों ने बुधवार की अपरान्ह यहां पॉलिटेक्निक कॉलेज प्रांगण से रवानगी लेनी शुरू कर दी और उनकी रवानगी का सिलसिला जारी, पुलिस ने भी सुरक्षा के लिहाज से मतदान बूथों पर सशस्त्र और अर्ध सैनिक पुलिस बलों की तैनातगी शुरू कर दी है।

… बंद हुआ शोर, अब घर-घर दस्तक-नेताजी नतमस्तक

गोपाल को हनुमान के बाद मिला किसनाराम का साथ, रैली से दिलाई ‘महाराज’ की याद, देखें वीडियो

भाजपा को समर्थन देने की बात को गहलोत ने बताया अफवाह