दिल्ली में टिमटिममाए बीकानेर की भावी राजनीति के कई नए चेहरे, ऐसे जताई दावेदारी…

2224
congress
congress

सुरेश बोड़ा/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में इस बार बीकानेर की राजनीति के क्षेत्र कई नए चेहरे सामने आ सकते हैं। कांग्रेस पार्टी के ये चेहरे पिछले तीन दिनों तक दिल्ली में डटे रहे। अपना टिकट पक्का करने के लिए वहां पार्टी के आला नेताओं से मिले, उन्हें अपनी राजनीतिक कुंडलियां बताई। इस दरम्यान उनसे आश्वासन के साथ पार्टी के लिए काम करने का लक्ष्य भी मिला।

दिल्ली दरबार में हाजिरी देने वालों में नोखा से कांग्रेस विधायक एवं नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर लाल डूडी, रेवंतराम पंवार, बीकानेर पश्चिम क्षेत्र से राजकुमार किराड़ू, बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र से गोपाल गहलोत, कौशल दुग्गड़, सुनीता गौड़, यशपाल गहलोत, श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र से पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा, हरिराम बाना, खाजूवाला क्षेत्र से गोविंद राम मेघवाल, सांगीलाल वर्मा तथा लूनकरणसर क्षेत्र से वीरेंद्र बेनीवाल, राजेन्द्र मूंड ने अपने समर्थकों के साथ आला नेताओं जिनमें खासतौर से पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव अशोक गहलोत, राजस्थान के सहप्रभारी काजी निजामुद्दीन, मोतीलाल वोरा सहित अन्य नेताओ के समक्ष टिकट के लिए पुरजोर ढंग से अपनी-अपनी दावेदारी जताई।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो सभी दावेदारों ने पार्टी में किए गए अपने काम, जातीय समीकरणों के अलावा अन्य तथ्यों के आधार पर टिकट की मांग की। बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से राजकुमार किराड़ू अपने समर्थकों के साथ पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मिले। किराड़ू ने टिकट के लिए मजबूत आधार बताने की भी कोशिश की। इसी सीट से प्रबल दावेदार डॉ. बी. डी. कल्ला फिलहाल इस दरबार के हिस्सा नहीं बने हैं। वहीं बीकानेर पूर्व विधानसभा सीट से सबसे ज्यादा चार दावेदार सामने आए। इनमें गोपाल गहलोत जो पिछली बार ताल ठोक चुके हैं, वे दूसरी बार भी चुनावी समर में उतरने की तैयारी के साथ दिल्ली दरबार पहुंचे। वे ओबीसी वर्ग की पार्टी से नजदीकियां बढ़ाने के तर्क के साथ इस सीट पर दावा कर रहे हैं।

इसी क्षेत्र शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ ने सक्रिय राजनीति के साथ महिला कोटे से टिकट की दावेदारी पेश की। इसी सीट से कांग्रेस के युवा नेता कौशल दुग्गड़ ने भी अपने समर्थकों के साथ दावेदारी पेश की। दुग्गड़ ने युवा चेहरे के साथ सक्रिय राजनीति में रहने तथा जिले में वैश्य समाज के व्यक्ति को प्रतिनिधित्व को अपनी टिकट का अहम् आधार बताया। इसी तरह शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत ने भी पूर्व के लिए ही अपनी दावेदारी पेश की है।

उधर, नोखा विधानसभा क्षेत्र से नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर लाल डूडी के साथ पूर्व विधायक रेवंतराम पंवार ने भी दिल्ली दरबार मे हाजिरी देकर सभी को चौंका दिया। श्रीडूंगरगढ़ से पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा के अलावा हरिराम बाना ने भी अपनी दावेदारी बड़ी पुख्तगी के साथ पेश की। इसी तरह लूनकरणसर क्षेत्र से पूर्व मंत्री वीरेन्द्र बेनीवाल भी समर्थकों की बड़ी ंसख्या के साथ आला नेताओं से मिले और एक बार फिर चुनाव में मौका देने के लिए दावेदारी पेश की।

इसी क्षेत्र से नए चेहरे के रूप में राजेन्द्र मूंड ने ताल ठोकी है। खाजूवाला से गोविंद मेघवाल ने एक बार फिर से अपनी दावेदारी जताई है, वे पिछले बार मामूली अंतर से हार गए थे। इस क्षेत्र से इस बार नए चेहरे के रूप में सांगीलाल वर्मा टिकट की दौड़ में सामने आए हैं। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले समय में टिकट की ‘लॉटरी’ के नाम खुलती है।

बीकानेर : 10 को राहुल की सभा, मेडिकल कॉलेज मैदान में जुटेंगे 5 लाख लोग

जिलाध्यक्षों को नहीं मिलेगा चुनावी टिकट, पद छोड़ेंगे तो…

चुनावी समर की तैयारी : भाजपा के इन 6 नेताओं को मिली अहम् जिम्मेदारी