सीवरेज बिछाने में चल रहा अनियमिताओं का खेल, जिम्मेदार मौन!

uit bikaner
uit bikaner

मुकेश पूनिया/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। शहर में नगर विकास न्यास की देखरेख में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत कराए जा रहे सीवरेज बिछाने के कार्य में भारी अनियमितताएं सामने आ रही हैं। क्षेत्र के लोगों ने बताया कि पूगल रोड पर चल रहे सीवरेज कार्य का ठेका आईवीआरसीएम फर्म को दिया गया था। फर्म के ठेकेदारों ने करोड़ों की लागत के इस महत्वपूर्ण कार्य में घोर लापरवाही बरती एवं घटिया निर्माण सामग्री का इस्तेमाल किया। इस कार्य में बरती गई घोर अनियमितताओं की जांच करने की मांग को लेकर जागरूक युवा संघर्ष समिति के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और स्थानीय निकाय मंत्री श्रीचंद कृपलानी को ज्ञापन भेजा है।

ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि पूगल रोड पर सीवरेज लाईन बिछाने के जी शेड्यूल में पीसीसी कार्य के दौरान कंप्रेशन को लेकर समस्त प्रक्रिया निहित थी। लेकिन ठेकेदार फर्म ने केवल पानी का छिड़काव कर रही मिट्टी को जमाने की औपचारिकता पूरी कर डाली। सीवरेज कार्य में क प्रेशन कार्य की कॉस्ट लगभग पच्चीस प्रतिशत थी। लेकिन क प्रेशन कार्य को पूरी तरह अनदेखा करते हुए करोड़ों रुपये की यह कॉस्ट अवैध तरीके से बचा ली गई। जगह-जगह धंस चुकी इस सड़क से साफ तौर पर प्रमाणित होता है कि सीवरेज बिछाने के कार्य में अनियमितता बरती गई है।

सीवरेज कार्य के दौरान सर्वप्रथम ट्रेंच अर्थात खड्डा खोदने के बाद धरातल को दबाव (क प्रेस) डालकर समतल किया जाता है। जिसमें पानी का छिड़काव भी होता है। इसके बाद पाईप व ग्रिट डाली जाती है। इसके बाद दुबारा कंकरीट व बजरी भरते हुए कम्प्रेस की प्रक्रिया अपनाई जाती है। लेकिन पूगल रोड पर सीवरेज कार्य के दौरान ठेकेदार फर्म ने गड्डे खोद कर पाईप डाल दी और रेत डाल कर छोड़ दिया। ऐसे में यह सड़क मामूली भार अथवा बरसात से ही धंस रही हैं। जिससे हादसे भी हो रहे हैं। ज्ञापन में मांग की गई है कि इसकी जांच करवाई जाये तथा जांच कार्यवाही पूरी होने तक ठेकेदार फर्म का भुगतना नहीं किया जाये।

…नहीं तो सूरसागर ले डूबेगा अफसरों की साख!

Bikaner news politics crime university education