सरस के नाम पर नकली घी बेचने वाले गिरोह का खुलासा

1232

उदयपुर (अभय इंडिया न्यूज)। पुलिस ने सरस ब्राण्ड का नकली घी बनाकर बाजार में बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है। आरोपियों ने राजसमंद में नकली घी से कई शादी-ब्याह करवा दिए। व्यापारियों के माध्यम से अधिकांश नकली घी वैवाहिक समारोह वाले परिवारों को बेचा गया। पुलिस ने मुख्य आरोपी के राजसमंद स्थित आवास पर दबिश देकर टीन, पैकिंग मशीन के अलावा भारी मात्रा में उपकरण बरामद कर लिए हैं।

पुलिस की स्पेशल टीम ने भूपालपरा थाना पुलिस की मदद से दो दिन पहले सौभागपुरा स्थित 100 फीट रोड पर एक जीप में सरस ब्राण्ड का 8 क्ंिवटल नकली घी बरामद कर राजसमंद जिले के कुवांरिया निवासी गोविन्द गुर्जर, प्रकाश गुर्जर, लक्ष्मण गुर्जर व सुखेर निवासी श्याम सिंह झाला को गिरफ्तार किया था। आरोपी उदयपुर में घी सप्लाई से पूर्व पकड़े गए। रिमांड अवधि में पूछताछ के बाद पुलिस ने गोविंद के राजसमंद स्थित घर पर दबिश दी तो परिजन पहले ही वहां पर रखे डेयरी लिखे गत्ते के डिब्बे, स्टीकर व पैकिंग सामग्री जला चुके थे। पुलिस ने स्टील की कोठी, टीन व स्टीकर लगाने की मशीन, तराजू व बाट बरामद किए। आरोपी अपने गांव के बाड़े में नकली घी बनाता था।

आरोपित गोविंद ने बताया कि वह पिछले डेढ़-दो साल से वनस्पति घी, सोयाबीन व एसेंस मिलाकर नकली घी बना रहा था। अधिकांश घी साथियों व व्यापारियों के जरिये शादी-ब्याह वाले परिवारों को बेचा। आरोपियों का कहना है कि 15 किलो ग्राम के टीन की लागत महज 1500 रुपए पड़ रही थी। वे व्यापारियों को इसे 2500 से 3000 हजार देते थे जिसे वे बाजार मूल्य से तीन से चार सौ रुपए कम में शादी ब्याह वालों बेच रहे थे ताकि उन्हें शक नहीं हो। पिछले एक साल में आरोपियों ने राजसमंद के कई ग्रामीण इलाकों में शादी-ब्याह में नकली घी सप्लाई किया। पुलिस घी के नमूनों को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के खाद्य अपमिश्रण विभाग को भेजेगी।

गोविंद ने बताया था कि वह गत्ते के डिब्बे, पैकिंग उपकरण व सील मुहर इंदौर के विकास उर्फ विक्की जैन मंगवाता था। वह विकास के खाते में पैसे डालता था तो वह पैकिंग सामग्री पार्सल कर बस से भिजवता था। पुलिस ने विकास की कॉल डिटेल के साथ ही गोविंद के बैंक खाते की डिटेल निकलवाई है। पुलिस इस मामले की तह तक जाने के लिए जल्द ही अपनी टीम को इंदौर भेजेगी।