सारिका, शबाना, जगदीश और वासु के निशाने लगे सटीक

राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में विजेताओं को पुरस्कृत करते अतिथि।
राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में विजेताओं को पुरस्कृत करते अतिथि।
राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में विजेताओं को पुरस्कृत करते अतिथि।
राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में विजेताओं को पुरस्कृत करते अतिथि।

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। एम. एम. ग्राउंड में गुरुवार को हुई सीनियर राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता में जयपुर की सारिका शर्मा, शबाना आजमी, बीकानेर के जगदीश चौधरी व अजमेर के वासुदेव विभिन्न स्पद्र्धाओं में सटीक निशाने लगाते हुए अव्वल रहे। जिला तीरंदाजी संगम बीकानेर एवं रोटरी क्लब बीकानेर मिडटाउन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस प्रतियोगिता में राज्यभर से करीब डेढ़ सौ तीरंदाजों ने हिस्सा लिया।

छात्रा रिकर्व राउंड में जयपुर की सारिका शर्मा प्रथम, अलवर की सीमा सिरोहिया द्वितीय, जयपुर की पल्लवी चौहान तृतीय तथा डूंगरपुर की निकिता कंवर चतुर्थ स्थान पर रही। इसी तरह छात्र रिकर्व राउंड में बीकानेर के जगदीश चौधरी प्रथम, बांसवाड़ा के वकील राज डिंडोर ने द्वितीय, जयपुर के निशांत कुमावत ने तृतीय तथा नागौर के सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने चतुर्थ स्थान प्राप्त किया। छात्रा इंडियन राउंड में जयपुर की शबाना आजमी ने प्रथम, श्रीगंगानगर की गगनदीप कौर ने द्वितीय, जयपुर की रेणुका ने तृतीय तथा श्रीगंगानगर की सुख कौर ने चतुर्थ स्थान प्राप्त किया। छात्र इंडिया राउंड में अजमेर के वासुदेव प्रथम, सतवीर सिंह राठौड़ द्वितीय, बीकानेर के रामपाल जाट तृतीय तथा जयपुर के कपिश सिंह चतुर्थ स्थान पर रहे।

इससे पहले प्रतियोगिता के उद्घाटन सत्र में कर्नल अशोक सिंह राठौड़ मुख्य अतिथि थे तथा अध्यक्षता राजस्थान तीरंदाजी संघ के उपाध्यक्ष राजेंद्र जोशी ने की। मिडटाउन के अध्यक्ष गुलाब सोनी व जिला तीरंदाजी के अध्यक्ष विजय खत्री ने तीर चलाकर प्रतियोगिता का उद्घाटन किया समापन सत्र में सभी विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए गए। समारोह में राजेश चुरा, मनोज गुप्ता, गुलाब सोनी, ऋषि आचार्य ने विजेताओं को सम्मानित किया। इस अवसर पर अतिथियों ने कहा कि इस तरह के आयोजनों से ही राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतिभाएं सामने आती है तथा उन्हें उभरने का अवसर मिलता है। कार्यक्रम का संचालन ज्योति प्रकाश रंगा ने किया। इस अवसर पर अनिल जोशी, आशीष, गिरीराज जोशी, वेद सोनी, भगवती प्रसाद सोनी, सुरेश राठी, अरविंद पारीक, प्रवीण डागा ने भी तीरंदाजी के महत्व पर प्रकाश डाला।