सट्टा बाजार ने बदला रुख, इस पार्टी के लिए आई गुड न्यूज

जयपुर (अभय इंडिया न्यूज)। राजस्थान विधानसभा चुनाव में पिछले दो-तीन दिनों से सट्टा बाजार का रुख बदल रहा है। अब तक लगातार कांग्रेस को बढ़त बनाते दिखा रहे बाजार ने पहली बार भाजपा के पक्ष में चाल पकड़ ली है। टिकट वितरण के बाद कांग्रेस में हुई बगावत से कई सीटें खतरे में पड़ती दिख रही है। हालात यह है कि कई सीटों पर तो नाराज नेता ‘अपनों’ की ही कब्र खोदने में लगे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शेखावटी के सट्टा बाजार ने कई महीनों बाद भाजपा को आगे बढ़ता हुआ दिखाया है। स्थानीय सीटों का आकलन करते हुए बाजार में कांग्रेस को आठ सीटों का नुकसान और भाजपा को आठ पर बढ़त बनाते हुए दिखाया है। हालांकि पूरे राज्य की बात करें तो अभी भी कांग्रेस को काफी अच्छी बढ़त मिलती दिखाई जा रही है। चुनावी हलचल शुरू होते ही करीब सात महीने पहले यहां कांग्रेस को 200 में से 103 से 105 और भाजपा को 62 से 64 सीटें मिलती दिखाई थीं। इसके बाद कांग्रेस को 133 से 135 सीटें, जबकि भाजपा को 50 से 52 सीटें मिलती दिखाई थीं। दो दिन पहले सट्टा बाजार में भाजपा को आठ सीटों के फायदे के साथ 58 से 60 सीटों तक पहुंचाया है।

यह हो सकता है संयोग

सट्टा बाजार के रुख के पीछे एक रोचक संयोग भी हो सकता है। संयोग यह है कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन का ट्रेंड देखने को मिला है। यहां एक बार भाजपा तो दूसरी बार कांग्रेस जीतती रही है। पिछले चुनाव में वसुंधरा राजे की टीम ने कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर दिया था। इसी के चलते इस बार कांग्रेस के जीतने की उम्मीद लगाई जा रही है।

बीकानेर : जोशी, बिश्नोई पर कोई कर्जा नहीं, …ये प्रत्याशी हैं करोड़ों के कर्जदार

एक सप्ताह से भूमिगत यशपाल जोश-खरोश के साथ आए सामने, कही ये बड़ी बात…

संघर्ष को त्रिकोणीय बनाने के लिए गहलोत ने दोनों सीटों पर झोंकी ताकत

हाड़ला में एसएसटी टीम पर हमला, प्रभारी ने भाग कर बचाई जान