खुलासा : जेल से सुपारी देकर कराई गई थी भाजपा नेता की हत्या

632

जयपुर/अलवर (अभय इंडिया न्यूज)। अलवर के बहरोड़ नगर पालिका के उपसभापति राकेश शर्मा हत्याकांड का बुधवार को सनसनीखेज खुलासा हुआ है। पुलिस ने इस मामले में तीन जनों राकेश यादव, अमन और चिंटू को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या की साजिश अजमेर जेल में बंद अशोक ठाकरिया ने रची थी। उसने करीब दो लाख रुपए की सुपारी देकर शार्प शूटरों को बुलवाया।

अलवर के पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश ने बताया कि राकेश हत्याकांड प्रकरण का मास्टरमाइंड आरोपी बहरोड़ निवासी अशोक ठाकरिया है। वह अलवर में तीन साल पहले पार्षद त्रिलोकचंद हत्याकांड का मुख्य आरोपी है। इसी केस में वह अजमेर जेल में बंद है। उन्होंने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि दिवंगत पार्षद त्रिलोक की मां केस में मुख्य गवाह थी। उसकी जान को खतरा था। ऐसे में बहरोड़ नगर पालिका के उपसभापति राकेश शर्मा ने त्रिलोक की मां को सुरक्षा देकर अपने यहां रखा था।

इसी के चलते अशोक ठाकरिया और राकेश शर्मा की रंजिश हो गई। ऐसे में जेल में बंद अशोक ठाकरिया ने राकेश शर्मा की हत्या की साजिश रची। उसने सुपारी देकर शूटर चिंटू को राकेश की हत्या के लिए तैयार किया। इसके बाद चिंटू ने राकेश यादव, कमल और सोनू के साथ मिलकर राकेश शर्मा की गतिविधियों की रैकी की। इसके बाद मौका पाकर राकेश पर फायरिंग कर दी। राकेश के तीन गोलियां लगने से मौत हो गई।

भाग निकला, पकड़ा गया

सूत्रों के मुताबिक वारदात में शामिल गिरफ्तार शॉर्पशूटर चिंटू से झिवाणा पुलिस चौकी में पुलिस पूछताछ कर रही थी, इसी दरम्यान चिंटू पुलिस हिरासत से गच्चा देकर भाग निकला। भागते समय एक पहाड़ी पर चढऩे के दौरान वो फिसलकर गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने चिंटू को अलवर के भिवाड़ी सामुदायिक अस्पताल पहुंचाया गया। हालत गंभीर होने पर उसे अलवर जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया। जहां उसका उपचार जारी है।