रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम, अव्वल शिविरार्थियों को मिले पुरस्कार

140

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड के स्थानीय संघ, गंगाशहर के तत्वावधान में डिसेंट किड्स स्कूल में चल रहे कौशल विकास प्रशिक्षण शिविर के अंतर्गत रविवार को पुरानी लाईन स्थित राज सेठिया पैलेस में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम और पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया।

Desent kids
Desent kids

शिविर संचालक गिरिराज खैरीवाल ने बताया कि इस अवसर पर शिविरार्थियों ने मनमोहक गीत, नृत्य और स्पीच इत्यादि की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। इस मौके पर शिविर में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले शिविरार्थियों रोहिणीकांत खैरीवाल (स्पोकन इंग्लिश), गायत्री सोनी (मेहंदी) पूजा कंवर (ब्यूटीशियन) प्रियंका सोनी (साज सज्जा) वंदना सुथार (सिलाई) निधि नाराणीवाल (डांस) भाग्यश्री सांड (गायन) निर्मन्यु राजपुरोहित (कंप्यूटर) व महक बोथरा (ड्राईंग) को पुरस्कार प्रदान किए गए।

Desent kids
Desent kids

शिविर में प्रशिक्षण देने वाले प्रशिक्षकों पूजा शर्मा, पारस जैन, देवेंद्र कुमार उपाध्याय, विष्णु नायक, अंजनी सिरोही, दीक्षा शर्मा, शशि वर्मा व सहयोगियों कैलाश स्वामी, रेखा जैन, राणसिंह राजपुरोहित, राजेंद्र कुमार पालीवाल, झंवरलाल तिवाड़ी, लक्ष्मी राजपुरोहित, मधु भादाणी एवं गीता भटनागर को सम्मानित किया गया। डिसेंट किड्स स्कूल के लिए सहयोग आभार प्रतीक सचिव भंवरी देवी ने ग्रहण किया।

Desent kids
Desent kids

 

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा सुनील बोड़ा मुख्य अतिथि थे। विशिष्ट अतिथियों के रूप में मंडल चीफ कमिश्नर डॉ. विजय शंकर आचार्य, मंडल कमिश्नर ओमप्रकाश सारस्वत, मोटिवेशनल स्पीकर डॉ. गौरव बिस्सा, सुपर स्पेशलिस्ट डॉक्टर मनोज कुमार माली, समाजसेवी अशोक सुथार, समाज सेवी रतनलाल मारू व सीताराम थे। प्रकांड ज्योतिषी एवं रमक झमक संस्था के अध्यक्ष प्रह्लाद ओझा ‘भैंरूÓ ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

सीनियर स्काउट जन नारायण राम चौधरी व गौरीशंकर गहलोत तथा ट्रेनिंग काउंसलर (स्काउट) रमेश कुमार मोदी ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए। स्थानीय संघ, गंगाशहर के प्रधान भवानीशंकर जोशी ने स्वागत भाषण दिया तथा सचिव प्रभु दयाल गहलोत ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का मंच संचालन विष्णु नायक ने किया। सभी अतिथियों ने अपने-अपने संबोधन में आयोजन की सराहना की।
़़़