साहित्य अकादमी के वार्षिकोत्सव में काव्यपाठ करेंगे राजपुरोहित

0
48

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। राजस्थानी रचनाकार शंकरसिंह राजपुरोहित साहित्य अकादमी, नई दिल्ली के वार्षिक उत्सव में राजस्थानी काव्य-पाठ करेंगे।
अकादमी के कार्यक्रम अधिकारी देवेन्द्र कुमार ‘देवेश’ के पत्र के अनुसार साहित्य अकादेमी का वार्षिक उत्सव 12 से 17 फरवरी को अकादमी के सभागार में आयोजित होगा। इस उत्सव के तहत 16 फरवरी को आयोजित पूर्वोत्तरी (नार्थ-ईस्ट एवं उत्तरीय लेखक सम्मेलन) में राजस्थान से राजस्थानी भाषा के रचनाकार शंकरसिंह राजपुरोहित को राजस्थानी काव्यपाठ के लिए आमंत्रित किया गया है। उल्लेखनीय है कि शंकरसिंह राजपुरोहित की राजस्थानी कविता के तेवर और तासीर विशिष्ट रही है। राजपुरोहित कवि सम्मेलन मंचों के भी सशक्त हस्ताक्षर हैं। मैथिली कथा संग्रह ‘गणनायक’ के राजस्थानी अनुवाद के लिए साहित्य अकादमी अनुवाद पुरस्कार से पुरस्कृत शंकरसिंह राजपुरोहित के कविता संग्रह ‘आभै रै उण पार’ के साथ दो व्यंग्य-संग्रह ‘सुण अर्जुण’ और ‘म्रित्यु रासौ’ प्रकाशित हैं। हाल ही में उनकी व्यंग्य रचना ‘म्रित्यु रासौ’ को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान के बारहवीं कक्षा के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है।