राहुल गांधी ने थामा आडवाणी का हाथ

0
446
फाइल फोटो

अभय इंडिया डेस्क.
आमतौर पर सियासी मैदान में हमेशा सामने तनकर खड़े रहने वाले नेता मंगलवार को एक-दूसरे के हाथ थामते नजर आए। बजट सत्र के पहले दिन सदन में सियासी शिष्टाचार देखने को मिल गया। आपसी कड़वाहट को तिलांजलि देते हुए पक्ष-विपक्ष के वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रपति के अभिभाषण से पहले और बाद में हंसते-मुस्कुराते गर्मजोशी से हाथ मिलाए और परस्पर अभिवादन किए।

राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद जैसे ही लालकृष्ण आडवाणी खड़े हुए तो राहुल गांधी ने आगे बढ़कर उनका हाथ थम लिया और बाहर निकलने तक साथ रहे। इस दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और सोनिया गांधी के बीच भी गर्मजोशी से अभिवादन हुआ। इससे पहले आडवाणी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी भी प्रथम पंक्ति में संवाद करते नजर आए। संसदीय कार्य राज्यमंत्री विजय गोयल ने भी सोनिया के पास जाकर उनसे चर्चा की। आडवाणी, सोनिया के साथ दो पूर्व प्रधानमंत्रियों मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौड़ा को पहली पंक्ति में बिठाया गया था।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी पहली बार संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करने के बाद प्रथम पंक्ति में बैठे नेताओं और मंत्रियों के पास जाकर उनसे हाथ मिलाया। अभिभाषण खत्म होने के साथ ही केवल सत्ता पक्ष ही नहीं, बल्कि विपक्ष के नेताओं ने भी मेज थपथपा कर राष्ट्रपति का अभिवादन किया।