सियासी हलचल : गुलाबी ठंड में भाटी-शेखावत में मिटी कुछ तल्खी…

केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत एवं पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी शनिवार को यहां बीकानेर में स्थित फार्म हाउस में बातचीत करते हुए।
केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत एवं पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी शनिवार को यहां बीकानेर में स्थित फार्म हाउस में बातचीत करते हुए।

सुरेश बोड़ा/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। केन्द्रीय मंत्री एवं भाजपा चुनाव संचालन समिति के संयोजक गजेन्द्र सिंह शेखावत शनिवार को जिस काम के लिए आए थे, उसमें वे काफी हद तक सफल रहे। जिताऊ उम्मीदवारों के बारे में फीडबैक लेने के साथ ही उन्होंने भाजपा के कद्दावर नेता देवी सिंह भाटी से मुलाकात कर सियासी हलचल बढ़ा दी। गुलाबी ठंड के दौर में हुई यह मुलाकात पिछली तल्खियों को कितना भुला पाएगी, ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा। बहरहाल, दोनों के बीच मिटी दूरियों ने नए राजनीतिक संकेत जरूर दे दिए है।

केन्द्रीय मंत्री शेखावत शनिवार को पूर्व मंत्री भाटी से उनके फार्म हाउस जाकर मिले। जहां भाटी एवं उनके समर्थकों ने शेखावत का गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दरम्यान केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हमारी मुलाकात के सियासी मायने निकालना आप पत्रकार मित्रों का काम है। लेकिन हमारे पीढिय़ों से पारिवारिक और मधुर संबंध रहे हैं। इस दरम्यान पूर्व मंत्री भाटी ने भाजपा से राजपूत समाज नाराज होने के सवाल पर कहा कि राजपूत समाज शुरू से ही कांग्रेस विरोधी रहा है। नाराजगी थोड़ी बहुत होती है, लेकिन चुनाव में परिणाम निश्चित तौर पर भाजपा के पक्ष में आएगा। अभी जो माहौल बनाया जा रहा है, उसका जवाब समय आने पर मिल जाएगा। चुनाव में राजपूत सबसे ताकतवर होकर खड़ा होगा।

बता दें कि केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को जब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बनाने की पेशकश सामने तो सबसे पहले पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी ने ही उनका विरोध किया था। तब भाटी ने यहां तक कहा था कि इनके प्रदेशाध्यक्ष बनने से पार्टी को नुकसान होगा। बाद में पार्टी ने प्रदेशाध्यक्ष पद पर मदन लाल सैनी को नियुक्त कर दिया था। अब केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह की भाटी से हुई ताजा मुलाकात सियासी हलके में चर्चा का विषय बनी हुई है।

सावधान! सर्वे अभी चालू है…, बीकानेर आ रहे हैं गजेन्द्र सिंह

जिताऊ कैंडिडेट तलाशने आए गजेन्द्र सिंह ने टिकटों को लेकर कही ये बड़ी बात…

…और तीन घंटे तक सिंह का इंतजार करते रहे टिकट के दावेदार

सार्दुलगंज में घर-घर घूमे गजेन्द्र, ऐसे लिया फीडबैक…