पीबीएम की कैथ लैब बद, आपात स्थिति में फोर्टिस में इलाज कराने की पेशकश

461
Bikaner fortis dtm hospital
Bikaner fortis dtm hospital

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। पीबीएम अस्पताल के हल्दीराम कार्डियेक सेंटर कि कैथ लैब के खराब होने से वहाँ के रोगियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में बीकानेर के फोर्टिस डीटीएम अस्पताल ने राज्य सरकार से हृदय रोगियों का इलाज अपने अस्पताल में कराने की पेशकश की है। इसके लिए अस्पताल प्रबंधन ने मुख्यमंत्री के नाम पत्र भी भेजा है। गौरतलब है कि हल्दीराम कार्डियेक सेंटर में कैथ लैब बंद होने से गंभीर रोगियों कि एंजियोग्राफी एवं एंजियोप्लास्टी भी नहीं हो पा रही है और ऐसे में गंभीर रोगी जीवन के जोखिम पर वहाँ से बाहर उपचार के लिए निकल रहे हैं।

फोर्टिस डीटीएम अस्पताल के निदेशक ऋषि कपूर ने राजस्थान की मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि इस आपात स्थिति से निपटने के लिए पीबीएम के चिकित्सक भामाशाह रोगियों की एंजियोग्राफी एवं एंजियोप्लास्टी फोर्टिस डीटीएम अस्पताल में आकर कर सकते हैं। अस्पताल सभी आवश्यक सुविधाएं नि:शुल्क मुहैया करवाएगा तथा अपने परिसर में पीबीएम की चिकित्सा टीम को दी जाने वाली सुविधा में कोई कमी नहीं आने देगी।

फोर्टिस डीटीएम ने अपने सामाजिक सरोकार के तहत मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पत्र में आश्वासन दिया है कि पीबीएम की व्यवस्था सुचारु होने तक पीबीएम के हृदय रोग विशेषज्ञ एवं फोर्टिस के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. रामेश्वर बिश्नोई की टीम संयुक्त रूप से काम कर आमजन को मुख्यमंत्री की भावनानुसार भामाशाह योजना के लाभार्थियों को राहत दे सकते है।

फोर्टिस डीटीएम में विश्वस्तरीय कैथ लैब एवं कार्डियक सेटअप उपलब्ध है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र की प्रतिलिपि स्वास्थ्य मंत्री, प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा एवं प्राचार्य एस. पी. मेडिकल कॉलेज बीकानेर को भी भेजी गई है।