पीबीएम अस्पताल : ओपीडी मरीजों से हाउसफुल, डॉक्टर साब कहां हो?

317
pbm hospital
pbm hospital
बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। मौसम में बदलाव के साथ बीमारियों का प्रकोप बढ़ गया है। इससे पीबीएम अस्पताल की ओपीडी हाउस फुल रहने लगी है। भीड़ के चलते मरीजों व उनके परिजनों को इलाज कराने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। बार-बार यहां-वहां देर तक कतार में खड़ा रहना पड़ रहा है। विडम्बना तो इस बात की है कि लंबी लाइनों में नंबर लगने के बाद भी उन्हें इलाज के लिये डॉक्टरों के घर पहुंचना पड़ता है, क्योंकि पीबीएम के अधिकतर डॉक्टर ओपीडी में टिकते ही नहीं है। ऐसे में दोपहर एक बजे बाद ओपीडी में मरीजों की भीड़ छंट जाती है और डॉक्टरों के घर के बाहर मरीजों का सैलाब सा उमड़ा दिखाई देता है।
अस्पताल में डॉक्टर्स की इस मनमानी का सिलसिला अभी से नहीं, बल्कि लंबे समय से चल रहा है और अस्पताल प्रबंधन इससे अच्छी तरफ वाफिक भी है। इसके बावजूूद डॉक्टरों की मनमानी पर लगाम कसने में नाकाम बना हुआ है। इन दिनों पीबीएम अस्पताल के ऐसे कई डॉक्टरों के नाम सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहे हैं, जो आमतौर पर ओपीडी से गायब रहते हैं।
बता दें कि मौसम में आये बदलाव से बीमारियों के प्रकोप में लोग खांसी, जुकाम, बुखार के अलावा डेंगू, स्वाइन लू के संदिग्ध मरीज अस्पताल पहुंच रहे है। यहां इलाज के लिए पहुंचने वाले मरीज व उनके परिजनों को रजिस्ट्रेशन काउंटर से लेकर डॉक्टर को दिखाने कतार में रहना पड़ रहा है। भारी भीड़ के बावजूद पीबीएम की नई ओपीडी में रजिस्ट्रेशन के लिए एक काउंटर संचालित है। इस लिये रोगियों को रजिस्ट्रेशन कराने के लिये घ्ंटों लाईन में लगे रहना पड़ता है और बड़ी मुश्किल से नंबर आने पर रजिस्ट्रेशन के बाद रोगी जब डॉक्टर के कक्ष तक पहुंचता है तो डॉक्टर सीट से गायब मिलते है।