नवरात्रा में ऐसा करने से मिल जाएगी समस्याओं से मुक्ति

444
Navratra Mataji
Navratra Mataji

अभय इंडिया डेस्क. इस वर्ष भी चैत्र नवरात्रा 18 मार्च से प्रारंभ हो रह हैं। नवरात्रा के आठ दिन सकाम या निष्काम साधना के लिए सबसे उपयुक्त माने गए हैं। अनुष्ठान के दौरान कई बातों पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। ऐसा करने से भी समस्याओं से मुक्ति मिल सकेगी। यदि सभी तरह की बाधाओं से निजात पानी है तो श्वेतार्क गणेशजी के सामने लाल वस्त्रासन तथा मूंगे की माला, लाल पुष्प, दुर्वा आदि से ओम गं गणपतये नम: का जाप रोज करें। इसके उपरांत उपलब्ध सामग्री से हवन कर मूंगे की माला गले में धारण कर लें।

इस नवरात्रा धन प्राप्ति के लिए श्रीलक्ष्मी यंत्र तथा श्रीकुबेर यंत्र स्थापित कर पंचोपचार पूजन कर खीर का नैवेद्य लगाकर एक माला ओम विश्वेश्यराय नम: तथा ग्यारह माला ओम श्री महालक्ष्म्यै नम: की कमल गट्टे की माला से जप करें, तत्पश्चात एक-एक माला प्रतिदिन करने से आर्थिक समस्या दूर हो जाएगी। विद्या प्राप्ति के लिए माता सरस्वती का चित्र तथा स्फटिक माला श्वेत वस्त्रासन 51 माला ओम ऐं सरस्वस्वत्यै नम: का जप करना चाहिए। वैवाहिक समस्या के निवारण के लिए दुर्गा माता का चित्र रखकर इक्कीस माला प्रतिदिन तथा बाद में 1 माला 21 दिन तक करनी चाहिए। व्यापार में बढ़ोतरी के लिए गौमूत्र, नमक, फिटकरी जल में मिलाकर पोंछा लगाएं तथा गुग्गल की धूप दें।

वित्त संबंधी समृद्धि बढ़ाने के लिए दक्षिणावर्ती शंख व एकाक्षी नारियल प्रतिष्ठा करवाकर स्थापित करना चाहिए। किसी भी काम में लाभ बढ़ाने के लिए काली हल्दी का टीका लगाकर व्यवहार करें। देवी कवच व अर्गला का नित्य पाठ सभी तरह से रक्षा कर उन्नति करता है। हनुमान चालीसा के 108 पाठ नित्य कर आखिर में शुद्ध घी से हवन करें। घर में तुलसी के पौधे में नित्य घी का दीपक लगाकर प्रार्थना करें तथा पीपल में जल चढ़ाकर तेल का दीपक लगाएं, सभी समस्याएं दूर होंगी। कोई बड़ी बाधा होने पर श्री बगलामुखी, काली, दुर्गा आदि का अनुष्ठान करवाएं। सुबह जल्दी उठें, स्नान कर सूर्य को अघ्र्य दें।