प्रदेश के इन 8 जिलों पर भारी पड़ सकता है मानसून, चेतावनी जारी

Mansoon

जयपुर (अभय इंडिया न्यूज)। राजस्थान में मानसून एक बार फिर से मानसून सक्रिय हो गया है। मौसम विशेषज्ञों की मानें तो करीब दस दिन पहले तक प्रदेश में मानसून सक्रिय था, लेकिन बाद में हिमालय की ओर से बढ़ गया था। अब फिर से राजस्थान के कुछ मैदानी क्षेत्रों में इसकी आहट हुई है। इससे प्रदेश में झमाझम बारिश की शुरूआत होने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान राजधानी में आंशिक तौर पर बादल छाए रहने के साथ बारिश की संभावना है।

मौसम विभाग ने संकेत दिए हैं कि आगामी 48 घंटे में प्रदेश में पूरब समेत पश्चिमी मैदानी इलाकों में मूसलधार बारिश हो सकती हैं। प्रदेश में बारां, उदयपुर, राजसमंद, कोटा, झालावाड़, चित्तौडगढ़़, बूंदी और भीलवाड़ा जिलों में भारी बारिश की संभावना है। इधर, राजधानी जयपुर में सूखे बीते जा रहे सावन में मंगलवार को राहत की बारिश हुई। करीब दस दिन के लंबे अंतराल के बाद शहर के कुछ क्षेत्रों में शाम करीब साढ़े चार बजे से एक घंटे तक तेज बारिश हुई। हालांकि राजधानी में छितराई बारिश के दौरान वर्षामापी यंत्र लगे स्थान सांगानेर स्थित मौसम केन्द्र और बनीपार्क स्थित कलक्ट्रेट पर बारिश दर्ज नहीं हुई, लेकिन सी स्कीम, सहकार मार्ग, टोंक रोड, जेएलएन मार्ग सहित आस पास के इलाकों में इस दौरान करीब एक इंच बारिश तक होने का अनुमान है।

शाम को ऑफिस समय खत्म होने के आस-पास तेज बारिश होने से इन सभी प्रमुख मार्गों पर लंबे जाम लगे। लोगों को 5 किलोमीटर की दूरी तय करने में ही आधा से एक घंटा लगा। फिलहाल बीते चौबीस घंटे में हुई बारिश से दिन के तापमान में थोड़ी नरमी आई है लेकिन हवा की रफ्तार कम होने से उमस परेशान कर रही है। बीते चौबीस घंटे में अलवर के किशनगढ़बास में सर्वाधिक 82 मिमी पानी बरसा वहीं बारां 42, छबड़ा 23, भरतपुर 32, दौसा 31 कोटा 27 और कनवास में 34 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई। जयपुर जिले के शाहपुरा में 16 मिमी बारिश मापी गई।

शहर के इस थाना क्षेत्र में रहते हैं सबसे ज्यादा कुख्यात अपराधी

चुनावी साल में आएगी अपराधियों की शामत, नजर में रहेंगे हिस्ट्रीशीटर