मिशन 2019 : युवाओं को जोडऩे के लिए भाजपा ने बनाया धांसू प्लान

370

अभय इंडिया डेस्क.
भाजपा ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अपनी रणनीति अभी से बनानी शुरू कर दी है। मिशन-2019 की सफलता के लिए पार्टी खासतौर से देश के युवाओं पर नजर गड़ाए हुए हैं। पार्टी का मानना है कि युवाओं को जोड़कर ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक बार फिर से केन्द्र की गद्दी पर सत्तासीन कराया जा सकता है। भाजपा के रणनीतिकारों ने इसके लिए युवा मोर्चा को सक्रिय कर दिया है। इसके हाल में पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री राम लाल ने भाजयुमो राष्ट्रीय पदाधिकारियों की मैराथन बैठक कर उन्हें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के मास्टर प्लान से अवगत करा दिया है। इसके अनुसार भाजपा का युवा मोर्चा देशभर के सभी मंडल ईकाइयों में मिलेनियम वोटर्स अभियान चलाएगा। पार्टी से जुड़े एक पदाधिकारी की मानें तो यह अभियान 25 जनवरी से 15 फरवरी तक चलया जाएगा। इसके तहत वर्ष 2000 के बाद जन्में सभी युवाओं को मतदाता के रूप में मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाया जाएगा। इसके लिए पार्टी की ओर से सभी मंडल स्तर पर शिविर लगाए जाएंगे। इसके अलावा शैक्षणिक संस्थानों, मॉल और भीड़-भाड़ के अन्य सार्वजनिक जगहों पर मतदाता पंजीकरण के विशेष शिविर लगवाए जाएंगे। पार्टी का ध्यान इस अभियान के तहत दो करोड़ से ज्यादा युवाओं का नाम मतदाता सूची से जुड़वाने का है। नए मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जुड़वाने के साथ भाजयुमो को 25 वर्ष से कम उम्र के उन युवाओं के नाम भी मतदाता सूची में जुड़वाने को कहा गया है। जिनके नाम अभी किसी वजह से मतदाता सूची में दर्ज नहीं है। पार्टी को युवाओं से अब भी काफी उम्मीदें हैं। उसे लगता है कि पीएम मोदी का जलवा अगर अब भी कहीं सबसे ज्यादा बरकरार है तो वह युवाओं के बीच है। यही वजह है कि मिशन 2019 के लिए पार्टी ने अपना ध्यान युवाओं पर ज्यादा केंद्रित किया है।
इसके अलावा सोशल मीडिया पर कांग्रेस से मिल रही चुनौती से निपटने के लिए भी पार्टी ने युवा मोर्चा को सक्रिय कर दिया है। अन्य अभियानों के साथ भाजयुमो मंडल स्तर पर युवाओं के बीच वाट्सएप समूह बनाएगा। इन समूहों के जरिए पार्टी के प्रचार सामग्रियों को निचले स्तर पर जनता के बीच पहुंचाया जाएगा। तो युवा मोर्चा के कार्यकर्ता इन प्रचार सामग्रियों को अपने सोशल साइट से मंडल स्तर पर प्रचारित करेंगे। मंडल स्तर के ये वाट्सएप समूह प्रदेश और केंद्र से भी जुड़े रहेंगे।