….लो हट गया चुनावी चेहरे से पर्दा, प्रदेशाध्यक्ष पर सस्पेंस बरकरार

1374
Chief minister of rajasthan vasundhara raje sindhiya

जयपुर (अभय इंडिया न्यूज)। प्रदेश भाजपा में चल रही प्रदेशाध्यक्ष की सियासी राजनीति के बीच पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना का बड़ा बयान आया है। उनके इस बयान से राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनावों के नेतृत्व का चेहरा साफ हो गया है। सोमवार को भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए साफ कर दिया है कि प्रदेश में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ही आगामी विधानसभा चुनावों का नेतृत्व करेंगी।

खन्ना ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के नाम में हो रही देरी की वजह कर्नाटक चुनाव बताया और कहा की कर्नाटक चुनाव के बाद ही राजस्थान के नए प्रदेशाध्यक्ष की घोषणा होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेशाध्यक्ष के लिए कई नामों पर चर्चा हुई है, लेकिन फैसला जल्द किया जाएगा। प्रदेशाध्यक्ष के जातीय समीकरणों को लेकर कहा कि बीजेपी किसी भी समाज के साथ अन्याय नहीं करेगी। खन्ना के इस बयान से अब यह साफ हो गया है कि कर्नाटक चुनावों के बाद ही राजस्थान का नया चेहरा दिया जाएगा। इस दौरान वहां कालीचरण सराफ भी मौजूद रहे। सराफ ने भी राजस्थान में चुनावो के लिए वसुंधरा का ही नेतृत्व बताया।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने 16 अप्रेल को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। ऐसा पहली बार हुआ है जब ये कुर्सी इतने दिन के लिए खाली रही है। इससे पहले पुराने प्रदेशाध्यक्ष के हटते ही अगले दिन नए प्रदेशाध्यक्ष को नियुक्त कर दिया जाता था।

बैठक के दौरान खन्ना ने मोर्चे की पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान समय में केंद्र एवं राज्य सरकारों के द्वारा महिला सशक्तिकरण पर जो कार्य हुए, वो बीते पचास साल में कांग्रेस नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में भारतीय जनता पार्टी ने मातृ शक्ति को पुरूषों के बराबर खड़ा करने का काम किया है।