कुमार बने कनार्टक के किंग, शपथ समारोह में जुटा मोदी विरोधी खेमा

668
karnataka cm kumarswami
karnataka cm kumarswami

बेंगलुरू/दिल्ली (अभय इंडिया न्यूज)। कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर एचडी कुमारस्वामी ने बुधवार को शपथ ग्रहण कर ली। वे दूसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने हैं। इसके साथ ही कुमारस्वामी पिछले एक सप्ताह में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले दूसरे व्यक्ति हैं। इससे पहले राज्यपाल ने भाजपा के बी. एस. येद्दियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी, लेकिन उन्होंने विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव का सामना किए बिना इस्तीफा दे दिया था।

कुमारस्वामी के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जी. परमेश्वर ने उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण की। समारोह में गैर-राजग दलों के कई नेता और मुख्यमंत्री शामिल रहे। मंच पर राहुल गांधी, सोनिया गांधी, अखिलेश यादव, शरद पवार, ममता बनर्जी, मायावती, तेजस्वी यादव, अजित सिंह, कमल हासन मौजूद रहे।

कांग्रेस के होंगे 22 मंत्री

अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव और पार्टी के प्रदेश प्रभारी के.सी. वेणुगोपाल ने मीडिया को बताया कि पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता रमेश कुमार विधानसभा के अध्यक्ष होंगे। विधानसभा उपाध्यक्ष जेडीएस से होंगे। गठबंधन सरकार में 22 मंत्री कांग्रेस के और 12 मंत्री जेडीएस के होंगे। उन्हें गुरुवार को होने वाले बहुमत परीक्षण के बाद शपथ दिलाई जाएगी। मंत्रियों के विभाग बंटवारे पर गुरुवार को ही विचार-विमर्श होगा। इसके अलावा सरकार के सुचारू संचालन के लिए एक समन्वय समिति भी बनाई जाएगी।

ये भी पहुंचे समारोह में

कर्नाटक में कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह से पहले ्रप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह विरोधी खेमा जुटने लगा। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू समारोह के लिए पहुंचे। इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी भी पहुंचे।

उल्लेखनीय है कि कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह को 2019 के चुनावों से पहले विपक्षी की एकजुटता के मंच के रूप में भी देखा जा रहा है। ऐसा इसीलिए है, क्योंकि समारोह में शामिल होने वाले ज्यादातर लोग या तो मोदी विरोधी हैं या भाजपा विरोधी।