अक्षय तृतीया पर मचेगी गंगा रेजीडेंसी के पतंग महोत्सव की धूम

305

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। रियल स्टेट कारोबारी प्रोजेक्ट गंगा रेजीडेंसी 18 अप्रेल को अक्षय तृतीया के दिन अपने ग्राहकों के लिए पतंग महोत्सव का आयोजन करने जा रहा है। महोत्सव गंगा रेजीडेंसी के सुजानदेसर स्थित सूरज विहार कॉलोनी के पास सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक आयोजित किया जाएगा। इस मौके पर ग्राहकों को उपहार भी दिए जाएंगे। यह जानकारी सोमवार को गंगाशहर रोड स्थित गंगा रेजीडेंसी के कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान तकनीकी सलाहकार विनायक जोशी ने दी।

उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में यूआईटी चैयरमैन महावीर रांका, महापौर नारायण चौपड़ा, विधायक डा. गोपाल जोशी, पूर्व विधायक डॉ. बी. डी. कल्ला, पुलिस अधीक्षक आदि को बतौर अतिथि आमंत्रित किया गया है। जोशी ने बताया कि आयोजन के दौरान नए कस्टमर के लिए टीवी, एलईडी, माइक्रोवेव ओवन आदि गिफ्ट पहले 50 कस्टमर के लिए रखे गए हैं। वहीं शेष कस्टमर को भी गिफ्ट दिए जाएंगे। इस मौके पर सांस्कृतिक गतिविधियों के तहत अन्य भव्य आयोजन किए जाएंगे। मैनेजर सेल्स भूपेन्द्र सिंह भाटी ने बताया कि उनका यह प्रोजेक्ट एक्ट के तहत रजिस्टर्ड है। यह प्रोजेक्ट मुख्यमंत्री जन आवास योजना-2015 के तहत आर्थिक दृष्टि से कमजोर (ईडब्ल्यूएस) एवं अल्प आय वर्ग हाउसिंंग (एलआईजी) पर केन्द्रित है। बीकानेर में सुजानदेसर में संचालित यह प्रोजेक्ट छह बीघा एरिया में निर्माणाधीन है। इसमें सभी आकर्षक सुविधाओं से युक्त करीब 535 फ्लैट ग्राहकों को उपलब्ध करवाएंगे जाएंगे।

तकनीकी सलाहकार जोशी ने पत्रकारों को बताया कि ईडब्ल्यूएस वर्ग के लिए वन बीएचके फ्लैट (325 वर्ग फुट) साढ़े छह लाख रुपए तथा एलआईजी ग्रुप के लिए 2 बीएचके (525 वर्गफुट एरिया) साढ़े दस लाख रुपए में उपलब्ध करवाएंगे। उन्होंने बताया कि नियमानुसार ग्राहकों को छूट एवं फाइनेंस का प्रावधान भी है। जोशी ने बताया कि भविष्य में प्रोजेक्ट विस्तार का प्रावधान है। इसमें वर्ष 2020 तक करीब 300 फ्लैट और लाएंगे। अभी ए से एल तक टावर है जिनमें काम चल रहा है। हमारा पूरा प्रयास है कि ग्राहकों को मार्च 2020 तक पजेशन दे देंगे। इससे पहले उन्होंने पत्रकारों को बताया कि यह राजस्थान का पहला मुख्यमंत्री जन आवास प्रोजेक्ट है।

यह मिलेंगी सुविधा

तकनीकी सलाहाकार विनायक जोशी ने बताया कि गंगा रेजीडेंसी में उच्च गुणवत्तापूर्ण निर्माण ग्राहक की कसौटी पर खरा उतरेगा। इसमें एलिवेटर की सुविधा मिलेगी। वहीं 24 गुना 7 डेज सीसी टीवी कैमरा से सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा वर्षा जल संचय प्रणाली का इस्तेमाल किया जा रहा है। पोल्यूटेड वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, ओपन जिम, भ्रमण पथ सहित पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए वृक्षमाला एवं हरेभरे उद्यान की सुविधा ग्राहकों को उपलब्ध करवाई जाएगी। मैनेजर भूपेन्द्रसिंह ने बताया कि प्रोजेक्ट में आवंटन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर होगा। वहीं 90 प्रतिशत तक ऋण सुविधा सभी प्रमुख बैकों के माध्यम से दी जाएगी। खासकर ग्राहकों को 2.67 लाख रुपए तक ब्याज में सब्सिडी एवं रजिस्ट्री पर राज्य सरकार के नियमानुसार छूट दी जाएगी।

यह हैं प्रोजेक्ट की विशेषताएं

जोशी ने बताया कि गंगा रेजीडेंसी रेलवे स्टेशन से महज 5 किलोमीटर तथ्सस नागौर एवं जैसलमेर हाइवे से मात्र 3 किमी की दूरी पर घनी आबादी के बीचों बीच स्थित है। दैनिक उपयोगी सुविधाएं मात्र एक किमी की दूरी पर है। यह रेजीडेंसी पुराने शहर की आबादी से मात्र दस मिनट की सुविधाजनक दूरी पर है। इस संबंधित अन्य जानकारी एवं आवेदन पत्र लेने एवं जमा करवाने के लिए श्रीरामसर रोड स्थित कार्यालय से हासिल कर सकते हैं। इस अवसर पर पत्रकार वार्ता को कन्हैयालाल, कोमल एवं मीनल अग्रवाल ने सम्बोधित किया।