अटलजी को अंतिम विदाई देने के लिए उमड़ रहा जनसैलाब

671

नई दिल्ली भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को अंतिम विदाई देने के लिए जनसैलाब उमड़ रहा है। हर कोई इस महान आत्मा के अंतिम दर्शन करना चाहता है। भाजपा दफ्तर में हजारों की संख्या में लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंच रहे हैं। दोपहर एक बजे तक वाजपेयी के शव को अंतिम दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा। भाजपा मुख्यालय से दोपहर 1 बजे अंतिम यात्रा शुरू होगी, जो दीनदयाल उपाध्याय मार्ग से होते हुए आईटीओ और वहां से राजघाट के पीछे स्थित राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर पहुंचेगी।

भाजपा मुख्यालय से यहां तक की दूरी लगभग पांच किलोमीटर है। दोपहर 4 बजे अटलजी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। उनके निधन पर 7 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की गई। शुक्रवार को देश के 12 राज्यों ने राजकीय शोक और अवकाश की घोषणा की। इनमें दिल्ली, उत्तरप्रदेश, गुजरात, मध्यप्रदेश, ओडिशा, पंजाब, बिहार, झारखंड, हरियाणा, तेलंगाना, तमिलनाडु और कर्नाटक राज्य शामिल हैं। इन राज्यों में सरकारी कार्यालय, स्कूलों और कॉलेजों में अवकाश रखा गया है। सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में गुरुवार को एक बजे तक काम होगा। दिल्ली में व्यापारियों ने भी सभी बाजार बंद रखने का फैसला किया है। अटलजी ने गुरुवार शाम 5.05 बजे एम्स में अंतिम सांस ली थी।

राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर ही बनेगा स्मारक

यमुना किनारे राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर डेढ़ एकड़ जमीन पर अटल बिहारी वाजपेयी का समाधि स्थल बनाया जाएगा। यूपीए सरकार ने नदी के किनारे समाधि स्थल बनाने पर रोक लगा दी थी, लेकिन मोदी सरकार ने इस फैसले को पलटते हुए वहां समाधि स्थल बनाने का फैसला लिया है। इस संबंध में मोदी सरकार जल्द अध्यादेश ला सकती है।

पाक के कानून मंत्री आएंगे

भूटान के नरेश जिग्मे खेसर नामगेयाल वांगचुक, नेपाल के विदेश मामलों के मंत्री पीके ग्यावाल, श्रीलंका के कार्यकारी विदेशी मंत्री लक्ष्मण किरीला, बांग्लादेश के विदेश मंत्री अबुल हासन महमूद अली और पाकिस्तान के कानून मंत्री अली जफर अटलजी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए आज दिल्ली पहुचेंगे।

अटलजी पैदल जाते थे संसद, जानिये उनसे जुड़ी दिलचस्प बातें…

जनता पार्टी टूटी तो अटलजी ने लिखा- गीत नहीं गाता हूं, भाजपा बनी तो लिखा- गीत नया गाता हूं