इमरान बनेगा सियासत का सूरमा, आतंकी का हुआ डिब्बा गोल

690
Imran-Hafiz Saeed
Imran-Hafiz Saeed

पाकिस्तान के आम चुनावों के अब तक आए रुझानों और नतीजों में पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर कर सामने आई है। उसका सत्ता में आना लगभग तय लग रहा है। पाकिस्तान में पीएम के सिंहासन तक पहुंचने का जादुई आंकड़ा 137 सीटों का है। इमरान की पार्टी ने नवाज शरीफ की पार्टी मुस्लिम लीग नवाज को पछाड़कर अब तक 116 सीटों पर बढ़त के साथ सबसे आगे है। राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो इमरान निर्दलीयों का साथ लेकर पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री बन सकते हैं।

चुनाव पाकिस्तान के आम-अवाम ने बदलाव की उम्मीद में जहां इमरान पर भरोसा जताया है, वहीं कट्टरपंथी इस्लामी पार्टियों को सिरे से खारिज किया है। मुंबई हमले के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद के समर्थन वाली अल्लाहु अकबर तहरीक का चुनाव में डिब्बा पूरी तरह गोल हो गया है। हाफिज की पार्टी को अभी तक एक भी सीट नहीं मिल पाई है। जबकि पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज को अभी तक के रुझानों में 64 सीटों पर बढ़त मिली है। इसके बाद पीपीपी 43 सीटों पर आगे है।

डॉन न्यूज के अनुसार आतंकी हाफिज ने संसदीय और प्रांतीय चुनावों में 200 से ज्यादा उम्मीदवार खड़े किए थे। अपनी राजनीतिक इकाई मिल्ली मुस्लिम लीग को चुनाव आयोग से मंजूरी न मिलने के बाद हाफिज ने चुनाव लड़ा था। इसके अलावा बीते साल इस्लामाबाद की रफ्तार थामने वाली तहरीक लब्बैक पाकिस्तान भी नतीजों में कहीं नहीं दिख रही है। यह पार्टी ईशनिंदा कानून की सुरक्षा का मुद्दा उठाकर चुनाव लड़ रही थी और साल 2015 में ही इसका गठन हुआ था। पार्टी ने 152 उम्मीदवार खड़े किए थे।

विरोध की चेतावनी के बाद पुलिस ने बढ़ाई सतर्कता, कांग्रेसी भूमिगत