हरियाली अमावस्या (11 अगस्त) पर राशिनुसार ऐसे करें शिव आराधना

आगामी 11 अगस्त को हरियाली अमावस्या है। सावन में आने वाली हरियाली अमावस्या का विशेष महत्व माना जाता है। इस मौके पर शिव पूजन का विशेष महत्व है। इस दिन मंदिरों में जल से शिव अभिषेक, महारुद्र अभिषेक से भगवान शिव को प्रसन्न करने से विशेष पूजन का फल प्राप्त होता है।

इस दिन तीर्थक्षेत्र व पवित्र नदी तटों पर स्नान एवं दान को पुण्यदायी माना गया है। ऐसी धारणा भी है कि हरियाली अमावस्या के दिन भगवान शिव की आराधना अपनी राशिनुसार की जाए तो विशिष्ट फल की प्राप्ति होती है। …तो आइए, जानते हैं कि किस राशि के जातक कैसे करें पूजन :-

मेष : भगवान भोलेनाथ का गाय के दूध से अभिषेक करना लाभदायक।

वृषभ : पांच सफेद पुष्प अर्पण कर पीपल की पूजा करना।

मिथुन : 11 बिल्व-पत्र चढ़ाना।
कर्क : पंचामृत चढ़ाना।

सिंह : तीन धतूरे चढ़ाना।

कन्या : गाय को गुड़ खिलाना।

तुला : दूध से अभिषेक।

वृश्चिक : जल व पांच बिल्व-पत्र चढ़ाना।

धनु : 108 बिल्व-पत्र चढ़ाना।

मकर : पांच प्रकार की मिठाई-हरे फल चढ़ाना।

कुंभ : शहद चढ़ाना।

मीन : पांच पीली वस्तुएं चढ़ाना।

सावन : पूजा में इन बातों का रखें ध्यान, हो जाएगा मनचाहा काम