ग्रीन बैल्ट में भू-माफिया काबिज, कलक्टर ने दिए जांच के आदेश

455
बीकानेर में गुरुवार को हुई जनसुनवाई में फरियाद सुनते जिला कलक्टर डॉ. एन. के. गुप्ता।
बीकानेर में गुरुवार को हुई जनसुनवाई में फरियाद सुनते जिला कलक्टर डॉ. एन. के. गुप्ता।

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। जिला जन अभाव अभियोग निराकरण सतर्कता समिति की गुरुवार को हुई बैठक में ग्रीन बैल्ट में हुए अतिक्रमण का मुद्दा काफी गर्माया। इस अपर जिला कलक्टर डॉ. एन. के. गुप्ता ने मामले की जांच कर रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए। अटल सेवा केन्द्र में हुई बैठक में 19 प्रकरणों पर चर्चा की गई। बैठक में उदयरामसर निवासी नारायण सिंह यादव द्वारा ग्राम उदयरामसर की ग्रीन बेल्ट में अवस्थित अराजीराज कृषि तथा अनुसूचित जाति की जमीनों पर भू-माफियाओं द्वारा अवैध रूप से कॉलोनियां विकसित करने की शिकायत की गई। इस प्रकरण के संबंध में जिला कलक्टर ने तहसीलदार तथा बीडीओ को 30 जून तक पट्टों की जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यूआईटी द्वारा अतिक्रमण हटाने के लिए अब तक क्या कार्यवाही की गई? इसकी सूचना भी उपलब्ध करवाई जाए।

बैठक में मनोज सेठिया द्वारा रिड़मलसर पुरोहितान के खसरा नंबर 49/19 में डवलपर्स द्वारा पानीे सड़क व पार्क जैसी सुविधाएं उपलब्ध नहीं करवाने के प्रकरण में जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास को आरक्षित भूखंडों की नीलामी प्रक्रिया तथा विकास कार्यों के लिए एनआईटी लगाने के निर्देश दिए।

शहर से बाहर स्थानांतरित हो डेयरियां, स्कूलों की हो जांच

बैठक में रामसिंह चरकड़ा द्वारा प्रस्तुत अवैध दूध डेयरियों व पशुपालन को शहर से बाहर स्थानांतरित करने के संबंध में जिला कलक्टर ने कहा कि पुलिस द्वारा समस्त अवैध डेयरियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाए। रामसिंह द्वारा प्रस्तुत एक अन्य प्रकरण में जिला कलक्टर ने शहर की समस्त 72 निजी स्कूलों में सुरक्षा मानकों की अनुपालना सुनिश्चित करवाने तथा इन स्कूलों के निरीक्षण के लिए सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान पाई जाने वाली कमियों को अविलम्ब दूर करवाया जाए।

पूर्व पार्षद पर कब्जे का आरोप

पवनपुरी निवासी जितेन्द्र सिंह जोधा के गांधी नगर के प्लाट पर पूर्व पार्षद द्वारा अवैध कब्जा करके रास्ता अवरूद्ध करने के प्रकरण में उन्होंने नगर विकास न्यास को जांच के निर्देश दिए। उपनिवेशन विभाग के सेवानिवृत्त पटवारी नरेन्द्र सिंह राजावत के पेंशन के प्रकरण में नियमानुसार कार्यवाही के निर्देश दिए। कोठारी मेडिकल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट के अवैध निर्माण के संबंध में प्रस्तुत रविन्द्र सारस्वत के प्रकरण पर जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास को अगली बैठक तक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

बैठक में निगम आयुक्त प्रदीप गवांडे, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजीत सिंह, अतिरिक्त कलक्टर (नगर) शैलेन्द्र देवड़ा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पवन कुमार, समिति सदस्य रामसिंह चरकड़ा, मनोज सेठिया, राजकुमारी बैद सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

जनसुनवाई में आए 65 से अधिक प्रकरण

बैठक के बाद जिला स्तरीय जनसुनवाई आयोजित हुई। जिला कलक्टर ने 65 से अधिक प्रकरणों में आमजन की समस्याएं सुनीं। जनसुनवाई के दौरान पुरानी बीएसटीसी स्कूल के पीछे रहने वाले संजय पारीक ने हीरादेवी की विधवा पेंशन चालू करवाने, बंगला नगर क्षेत्र में सीवरलाइन को घरों से जोडऩे तथा रात आठ बजे के बाद शराब की बिक्री बंद करवाने के संबंध में पत्र प्रस्तुत किया। वहीं हैड कांस्टेबल स्वर्गीय दीन मोहम्मद की पुत्री मेहरूनिशा ने पारिवारिक पेंशन चालू करवाने, बुधराम ने मंडी विकास समिति द्वारा डबल आवंटन भूखंड के बदले वैकल्पिक भूखंड की स्वीकृति की मांग की। इन प्रकरणों के संबंध में जिला कलक्टर द्वारा संबंधित अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दिए गए।

हनुमानप्रसाद शर्मा द्वारा तोलियासर भैंरूजी की गली में पाटों तथा चौकियां बनाकर किए गए कब्जों को हटाने, पार्षदों द्वारा बिन्नाणी बिल्डिंग के सामने, बोथरा कॉम्पलेक्स के कॉर्नर सहित कुल नौ स्थानों पर चल रहे अवैध निर्माण हटाने, चारणवाली ब्रांच की 53 आरडी से 20 पीएसओ के कटाणी रास्ते का सीमांकन करवाने, सुरेन्द्र कुमार व्यास द्वारा अंत्योदय नगर में ए-45 के पास कॉलोनी की बाउंड्री वाल पुन: बनाने, रामसिंह चरकड़ा द्वारा नोखा शहर के समीप स्थित 1 हजार 400 बीघा गौचर भूमिक को कब्जामुक्त करवाकर उसकी तारबंदी करवाने सहित विभिन्न शिकायतें प्राप्त हुईं। जिला कलक्टर ने अधिकारियों को इन प्रकरणों के समयबद्ध तथा नियमसम्मत निस्तारण के निर्देश दिए।