शौक के खातिर करता था चोरियां, अब आया गिरफ्त में

681
शातिर नकबजन जितेन्द्र उर्फ जीतू गहलोत।
शातिर नकबजन जितेन्द्र उर्फ जीतू गहलोत।

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। बाल्यावस्था में ही वो चोरी की वारदातों को अंजाम देने लग गया था। फिर महंगे शौक रखने लगा। जैसे-जैसे उम्र बढ़ी तो थानों में मुकदमों की फेहरिस्त भी बढऩे लगी। अब वो पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। पुलिस ने इस शातिर नकबजन पुरानी गिन्नाणी में टोकला हाउस के पास रहने वाले जितेन्द्र उर्फ जीतू (20) पुत्र प्रेमचंद गहलोत को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ में चोरी की कई वारदातों का खुलासा हुआ है।

शहर में बढ़ती चोरी और नकबजनी की वारदातों के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक सवाई सिंह गोदारा ने वृत्ताधिकारी (सदर) राजेन्द्र सिंह के निर्देशन में सदर पुलिस थाना प्रभारी लक्ष्मण सिंह के नेतृत्व में एक टीम गठित की। टीम में उपनिरीक्षक सुषमा, सहायक उपनिरीक्षक रामसिंह, हैड कांस्टेबल हनुवंत सिंह, सुरेन्द्र कुमार, चालक जसविन्द्र सिंह, कांस्टेबल दीपक यादव शामिल थे। टीम ने जितेन्द्र गहलोत की गतिविधियों को संदिग्ध मानते हुए उस पर निगरानी रखनी शुरू कर दी। बाद में दस्तयाब कर गहनता से पूछताछ व तफ्तीश की गई। आरोपी जितेन्द्र ने अपनी पूछताछ में थाना सदर की तीन नकबजनी व गाड़ी चोरी की वारदात जेल से जमानत होने के बाद करना स्वीकार कर लिया। आरोपी जितेन्द्र को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे तीन के रिमांड पर लेने का आदेश किया है।

थाना सदर में दर्ज प्रकरण सं. (1) 82/18 धारा 457, 380 भारतीय दण्ड संहिता, (2) अभियोग सं. 116/18 धारा 457, 380 भारतीय दण्ड संहिता, (3) 117/18 धारा 457, 380 भारतीय दण्ड संहिता (4) 118/18 धारा 379 भारतीय दण्ड संहिता के प्रकरणों में हुई नकबजनी व चोरियों का खुलासा अपनी पूछताछ में किया है। आरोपी से इन प्रकरणों में बरामदगी व इनमें सहयोगी रहे लोगों के संबंध में अनुसंधान जारी है। पुलिस के मुताबिक आरोपी अपनी बाल्यअवस्था से ही चोरी की वारदातें करने लग गया था उसके विरूद्व अब तक जिला बीकानेर के विभिन्न थानों में 13-14 प्रकरण दर्ज हैं। आरोपी अपने महंगे शौक की पूर्ति के लिए नकबजनी व चोरियां करता था।