आरएसएस पर बनेगी पहली फिल्म, स्क्रिप्ट हुई फाइनल

406
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) file photo
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) file photo

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर देश में पहली बार बनने जा रही फिल्म की स्क्रिप्ट फाइनल कर ली गई है। इसे संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत ने हरी झंडी भी दिखा दी है। यह फिल्म हिंदी और तेलुगू में होगी। फिल्म के लिए डायरेक्टर और स्टार कास्ट फाइनल की जा रही है। इस फिल्म का बजट लगभग 180 करोड़ रुपए रखा गया है। यह फिल्म संभवत: अगले साल यानी लोकसभा चुनाव से पहले प्रदर्शित हो सकती है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक फिल्म बनाने का आइडिया कन्नड़ सिने ऑडियो टाइकून लहरी वेलु को आया। उन्होंने एनबीटी से बात करते हुए बताया कि सुपरहिट फिल्म बाहुबली और बाहुबली टू के ऑडियो राइट्स भी हमारी म्यूजिक कंपनी ने लिए हैं। बाहुबली की सफलता देखकर लगा कि जब वह इतनी हिट हो सकती है तो संघ पर फिल्म बनाई जानी चाहिए। लहरी वेलु के अनुसार- मैं यह आइडिया लेकर बाहुबली फेम एस. राजमौली के पिता विजेंद्र प्रसाद के पास गया। वह जाने-माने लेखक हैं। उन्हें यह आइडिया बहुत पसंद आया। फिर इस आइडिया के साथ संघ प्रमुख से मिला। उन्होंने भी अपनी सहमति दे दी। इसके बाद 27 लोगों की टीम ने करीब सात महीने तक रिसर्च की और फिर उस आधार पर विजेंद्र प्रसाद ने स्क्रिप्ट लिखी।

एक साल में बनेगी फिल्म

लहरी वेलु के अनुसार करीब दो महीने पहले हम स्क्रिप्ट लेकर संघ प्रमुख से मिले, वह स्क्रिप्ट देखकर बेहद खुश हुए। यह पूरी तरह तथ्यों पर आधारित है। वेलु ने बताया कि इस फिल्म के लिए हमने करीब 180 करोड़ रुपये का बजट रखा है। उन्होंने कहा कि हमारा मकसद लोगों को संघ की असली पहचान, उनकी विचारधारा, भारत के लिए उनके बलिदान और उनके संघर्ष के बारे में बताना है। हमें इस काम में संघ प्रमुख का आशीर्वाद मिल गया है। उन्होंने बताया कि फिल्म के लिए हमने ‘संघ’ और ‘भगवाध्वज’ नाम रजिस्टर्ड करवा लिए हैं। फिल्म के लिए स्टार कास्ट तय किया जा रहा है। जिसमें साउथ इंडियन फिल्मों से लेकर बॉलीवुड फिल्मों के स्टार से संपर्क किया जा रहा है। जल्द ही डायरेक्टर फाइनल हो जाएगा। यह पूछने पर कि क्या लोकसभा चुनाव से पहले यह फिल्म आ जाएगी। उन्होंने कहा कि इसका चुनाव से कोई संबंध नहीं है, लेकिन हमारी कोशिश है कि एक साल के भीतर यह फिल्म आ जाए।