राहुल के नाम पर लड़ा जाएगा चुनाव, निष्क्रिय पदाधिकारी हटेंगे

442
congress
congress

जयपुर (अभय इंडिया न्यूज)। कांग्रेस राजस्थान में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नाम पर लड़ेगी। प्रदेश में किसी नेता को मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित नहीं किया जाएगा। संगठन को लेकर कराए गए सर्वे में मिले फीडबैक के आधार पर प्रदेश की सभी ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों में अध्यक्षों की नियुक्ति रविवार को कर दी गई है। अब जिला कांग्रेस कमेटियों में बदलाव होगा, निष्क्रिय पदाधिकारियों को पदों से हटाकर युवा एवं सक्रिय लोगों को जिम्मेदारी दी जाएगी। ब्लॉक और जिला कांग्रेस कमेटियों में वर्तमान पदाधिकारियों के कामकाज का आंकलन कराया जा रहा है।

यह जानकारी कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे ने ‘जागरण’ को देते हुए बताया है कि सर्वे प्रत्येक स्तर पर कराया जा रहा है। इस सर्वे में चुनाव अभियान और संगठन को लेकर फीडबैक लिया जा रहा है। कांग्रेस द्वारा करवाए गए सर्वे में सामने आया कि भाजपा के वर्तमान 158 विधायकों में से 60 फीसदी विधायकों के खिलाफ एंटी इंकंबेंसी फैक्टर काम कर रहा है। कांग्रेस ने भाजपा की वर्तमान स्थिति, पार्टी के संभावित उम्मीदवारों, चुनावी मुद्दों के साथ ही कार्यकर्ताओं की प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं के प्रति सोच को लेकर सर्वे कराया था। इस सर्वे में प्रत्येक विधानसभा सीट पर दो से तीन संभावित प्रत्याशियों के नामों के पैनल तैयार कराए गए है।

सर्वे के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट दोनों को ही प्रदेश का नेता बताते हुए कहा कि चाहे जातिगत समीकरण कुछ भी रहे, लेकिन गहलोत और पायलट की संयुक्त अगुवाई में ही चुनाव लड़ा जाना चाहिए। कार्यकर्ता इन दोनों नेताओं में से किसी एक को मुख्यमंत्री का चेहरा मानते हैं।

तीन माह के कार्यक्रमों का दिया प्लान

पांडे ने बताया कि पार्टी के अग्रिम संगठन युवक कांग्रेसए महिला कांग्रेसए एनएसयूआई और सेवादल को 3 माह के कार्यक्रमों का प्लॉन दिया गया है। आंकलन में खरे नहीं उतरने वाले नेताओं को पदों से हटाकर काम करने वाले नेताओं को पदाधिकारी बनाए जाने का निर्णय किया गया है। अग्रिम संगठनों को ब्लॉक और जिला स्तर पर तय प्लॉन के अनुसार कार्यक्रम आयोजित करते हुए नए लोगों को संगठन से जोड़ा होगा।