बीकानेर में पकड़ा गया ‘कोख का कातिल’ डॉक्टर

1269

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। एक नाबालिग लड़की के गर्भपात करने के फिराक में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक डॉक्टर को दबोच लिया है। गर्भपात करने के एवज में उक्त डॉक्टर ओ. पी. मोदी ने 20 हजार रुपए ले लिए थे। यह कार्रवाई मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) देवेन्द्र चौधरी और कॉर्डिनेटर महेन्द्र सिंह शेखावत के नेतृत्व में की गई।

सीएमएचओ देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि आरोपी डॉक्टर मोदी के खिलाफ एमटीपी एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है। उन्हें सूचना मिली थी कि पीबीएम अस्पताल के सामने एक्स-रे गली में डॉ. ओ. पी. मोदी के क्लीनिक में अवैध रूप से गर्भपात कराया जाता है। इस पर टीम ने जाल बिछाकर क्लीनिक की तलाशी ली। इस दौरान आरोपी डॉक्टर मोदी एक नाबालिग लड़की के अवैध गर्भपात की तैयारी में जुटा हुआ था। लड़की के साढ़े पांच माह का गर्भ था। डॉक्टर ने इसके लिए लड़की के पिता से 20 हजार रुपए ले रखे थे। सीएमएचओ चौधरी के अनुसार डॉ. मोदी का क्लीनिक गर्भपात के लिए रजिस्टर्ड नहीं था, लिहाजा यह कार्रवाई अमल में लाई गई है। आरोपी डॉक्टर से पूछताछ में कई और राज भी सामने आ सकते हैं।

गौरतलब है कि बीकानेर में कई ऐसे क्लीनिक हैं जहां अवैध रूप से गर्भपात का घिनौना काम होता है। हाल में रानीबाजार स्थित डॉ. इति माथुर की क्लीनिक में भी अवैध गर्भपात का मामला प्रकाश में आया है। इसके बाद से स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। बताया जाता है कि कोख के कातिल के रूप में न केवल कई डॉक्टर, बल्कि कई दलाल में सक्रिय हैं। इन दलालों ने शहर ही नहीं, निकटवर्ती गांवों में भी अपना नेटवर्क बना रखा है। गर्भपात कराने वालों को डॉक्टर तक पहुंचाने के बाद ये दलाल अपनी हिस्सा राशि लेकर दूसरे शिकार की तलाश में जुट जाते हैं। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो डॉ. ओ. पी. मोदी को लेकर विभाग को काफी समय से शिकायतें मिल रही थी। कुछ और चिकित्सक भी कोख का कत्ल करने में सक्रिय हैं। अब उन पर भी स्वास्थ्य विभाग ने शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है।