भाजपा की ‘यात्रा’ के जवाब में कांग्रेस के होंगे ‘सम्मेलन’

356
vasundra-sachin file photo
vasundra-sachin file photo

सुरेश बोड़ा/जयपुर/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी पंद्रह अप्रेल से प्रदेशभर में सुराज गौरव यात्रा निकालने जा रही है। इसके जवाब में कांग्रेस ने भी जनता के बीच जाने का फैसला कर लिया है। कांग्रेस यात्रा का जवाब किसान सम्मेलन के रूप में देंगी। इसकी रणनीति के लिए हाल में कांग्रेस ्रप्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट और पार्टी के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे के बीच लंबी मंत्रणा हुई है। कांग्रेस का कहना है कि प्रदेश की मुख्यमंत्री सुराज गौरव यात्रा के माध्यम से कल्याणकारी योजनाओं से लोगों को रूबरू कराने का दावा कर रही हैं, लेकिन वास्तविकता तो यह है कि उनके पास उपलब्धियों के नाम पर गिनाने को कुछ भी नहीं है।

कांग्रेस पार्टी के सूत्रों से पता चला है कि भाजपा की यात्रा के मद्देनजर पायलट और पांडे के बीच हुई मंत्रणा के बाद लगभग यह तय हो गया है कि पार्टी प्रदेश के विभिन्न जिलों में किसान सम्मेलन आयोजित करेंगी। इसमें प्रदेश के सभी प्रमुख नेताओं को मंच पर लाया जाएगा। इससे पार्टी में बड़े नेताओं के बीच गुटबाजी की अटकलों को भी विराम देेने की कोशिश की जाएगी। पायलट और पांडे के बीच हुई मंत्रणा में आगामी चुनाव में सपा और बसपा को लेकर भी व्यापक चर्चा हुई है। संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में कांग्रेस और उक्त दोनों पार्टियों के बीच कोई अहम् बैठक हो सकती है।

उधर, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सुराज गौरव यात्रा के लिए अपनी नजदीकी नेताओं को जिलेवार जिम्मेदारियां बांटने का क्रम शुरू कर दिया है। पंद्रह अप्रेल से शुरू होने वाली इस यात्रा का दौर जुलाई तक चलेगा। इस दरम्यान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे करीब तीस जिलों में सरकार की अब तक की उपलब्धियां लेकर जनता के बीच जाएंगी। कुल मिलाकर कांग्रेस और भाजपा दोनों ने ही चुनावों के मद्देनजर आमजन के बीच जाकर खुद को श्रेष्ठ बताने की होड़ तेज होने वाली है। यह देखना दिलचस्प होगा कि भाजपा की यात्रा पर कांग्रेस के सम्मेलन कितने कारगर साबित होते हैं।