सीएम के चेहरे पर रार के बीच कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का आया बड़ा बयान

514

जयपुर (अभय इंडिया न्यूज)। प्रदेश में सीएम के चेहरे को लेकर चल रही रार पर लगाम लगाने के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने गुरुवार को एक बड़ा बयान दिया। पायलट ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार कांग्रेस हाशिए पर चली गई थी। 21 सीटों पर सिमट गई थी, तब राहुल गांधी ने उस कठिन दौर में मुझे प्रदेश की जिम्मेदारी दी थी। उस समय भी प्रदेश में बहुत नेता थे, जो बड़े पदों पर रह चुके थे, उनमें विश्वास न जता कर मुझ पर भरोसा जताया। ऐसे में मेरा लक्ष्य है कि कांग्रेस को आगामी विधानसभा चुनाव में हाल में विजय दिलाना है। पायलट ने यह बात गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बातचीत के दौरान कही।

पायलट ने किसी का नाम लिए बिना ही यह स्पष्ट करते हुए कहा कि जो आज बड़े-बड़े नेता हैं, उनको प्रदेश और देश में जो स्थान मिला है, वो पार्टी की बदौलत मिला है। इसलिए उन्हें सोचना चाहिए की पार्टी को किसी सूरत में नुकसान न पहुंचे, क्योंकि जनता कांग्रेस के पक्ष में खड़ी है। वो चाहती है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने। ऐसे में सभी नेताओं को सकारात्मक भूमिका निभानी चाहिए। कांग्रेस 130 साल पुरानी पार्टी है। तमाम नेताओं के खून और पसीने से पार्टी खड़ी है। सभी ने मिलकर काम किया तब जाकर पार्टी मजबूत हो रही है। रही बात किसी पद की तो कांग्रेस ने मुझे बहुत कम समय में बहुत कुछ दिया है। अब समय पार्टी को देने का है।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पायलट ने कहा कि 26 की उम्र में मैं सांसद बन गया। 31 साल में सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह ने केन्द्र में मंत्री बना दिया। 35 साल में राज्य के पीसीसी चीफ की जिम्मेदारी दे दी। अब वक्त पार्टी को देने का है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे राजस्थान गौरव यात्रा पर निकलने से पहले प्रदेश की जनता के जीवन पर असर डालने वाले मुख्य मुद्दों पर जवाबदेही सुनिश्चित करे। पायलट ने भाजपा सरकार पर प्रहार किया। कहा कि भाजपा सरकार सभी मोर्चो पर पूरी तरह से विफल रही है। प्रदेश में मॉब लिचिंग की घटनाएं बढ़ रही है। बेरोजगारी पर लगाम नहीं लग रही। महिला उत्पीडऩ का ग्राफ भी लगातार बढ़ रहा है।

सीएम चेहरे को लेकर रार : गहलोत ने भाजपा और मीडिया पर फोड़ा ठीकरा