विद्यार्थियों से लाखों रुपए वसूल कर कोचिंग संचालक फरार

fraud logo
fraud logo

मुकेश पूनिया/नोखा/बीकानेर(अभय इंडिया न्यूज)। छात्र-छात्राओं को आईएएस, आरएएस, कनिष्ठ लिपिक, बैंक क्लर्क और एयरफोर्स भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिये सैकड़ों विद्यार्थियों से लाखों रुपए वसूलने के बाद आरसीआई कोचिंग के संचालक देर रात अपना साजो-सामान समेट कर संस्थान के ताले लगा भाग छूटे। गुरूवार सुबह इसका पता चलने पर कोचिंग में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं की हवाईंया उड़ गई और रोष गहरा गया।

मामले के मुताबिक सीकर के किसी अनिल सिंह और उसके साथियों ने कस्बे में बीकानेर रोड़ पर एचडीएफसी बैंक भवन की ऊपरी मंजिल पर आरसीआई कोचिंग संस्थान शुरू की थी। इस कोचिंग में आईएएस, आरएएस और कनिष्ठ लिपिक, बैंक क्लर्क और एयरफोर्स भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिये नोखा समेत आसपास गांव के बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं पढऩे के लिये आते थे।

कोचिंग के डायरेक्टर अनिल सिंह ने छात्र-छात्राओं को बताया कि परीक्षाओं के पहले उनका सारा कोर्स पूरा करवा दिया जायेगा। इसकी एवज में उसने एडवांस फीस के रूप प्रत्येक विद्यार्थी से दस-दस हजार रूपये भी दो माह पहले ही वसूल लिये थे। छात्र-छात्राएं पिछले दो-तीन माह से नियमित रूप से परीक्षा तैयारी के लिये आ रहे थे। गुरूवार सुबह अपने निर्धारित समय पर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में जुटे आरसीआई के विद्यार्थी जब कोचिंग पहुंचे तो कोचिंग खाली देख उनके होश उड़ गये और मौके पर इकट्ठा हुए छात्र-छात्राओं और उनके परिजनों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

उनका आरोप था कि कोचिंग संचालक अनिल सिंह विद्यार्थियों से प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी की पूरी फीस लेने के बाद भी कोर्स पूरा नहीं करवाया। अब जब परीक्षा नजदीक है तो संचालक सारा सामान लेकर फरार हो गये। जब संचालक से मोबाइल पर बात कर अपनी समस्या बतानी चाही तो उनका फोन भी बंद आ रहा है। इस घटनाक्रम से आहत छात्र-छात्राओं ने बताया कि वे पिछले दो माह से यहां प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिये के लिये कोचिंग आ रहे थे। पहले भी नियमित रूप से कक्षाएं नहीं लगती थी और अब संचालक द्वारा कोचिंग खाली कर फरार हो जाना हमारे भविष्य के साथ खिलवाड़ है। उन्होंने बताया कि यहां ये संचालक सीकर जिले के है और ज्यादातर स्टॉफ भी वहीं का है। सुबह जब कोचिंग पहुंचे तो सारा सामान गायब था।

बॉर्डर एरिया में बनेगी 600 किमी. लम्बी मानव शृंखला, 1 लाख लोग जुटेंगे