मोदी की राहुल को चुनौती- बिना कागज पढ़े 15 मिनट बोल कर दिखाएं

549
prime minister narendra modi
prime minister narendra modi

मैसूर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कर्नाटक चुनावी अभियान के तहत मंगलवार को मैसूर में एक सभा को संबोधित कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जोरदार हमला बोला। मोदी ने राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा कि बगैर किसी कागज या रिपोर्ट को पढ़े कर्नाटक में अपनी सरकार की उपलब्धियों को 15 मिनट में गिनाएं। आप हिंदी में, अंग्रेजी में या अपनी मातृभाषा में बोल सकते हैं। इसके अलावा मोदी ने कहा कि राहुल मुझे 15 मिनट में पांच बार विश्वेश्वरैया बोल कर दिखाएं।

मोदी ने कहा कि लोकतंत्र में हम नेता और नागरिकों की बातों को गंभीरता से लिया जाता है। राहुल ने कहा था कि अगर मैं संसद में 15 मिनट भी बोलूंगा तो मोदी जी बैठ नहीं पाएंगे। वे 15 मिनट बोलेंगे, ये भी एक बड़ी बात है और मैं बैठ नहीं पाऊंगा, सुनकर मुझे अ’छा सीन याद आता है। हां, आप सही हैं, आप ‘नामदारÓ हैं, आपके आगे बैठने की क्षमता हम ‘कामदारोंÓ में नहीं। उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस नेताओं का कोई प्रिंसिपल नहीं, राहुल गांधी कुछ करते नहीं है केवल बातें बनाते हैं।

पीएम मोदी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, हमसे डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, उन्होंने 2005 में कहा था कि यूपीए सरकार देश के हर गांव बिजली ले आएगी। हमने देखा है डॉ. मनमोहन के प्रति कांग्रेस का अनादर। सभा के बीच में वे मनमोहन जी के फैसले को फाड़ देते थे। राहुल को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि मनमोहनजी की बात नहीं मानते हो, कम से कम माताजी की बात तो मानो। सोनियाजी ने कहा था कि 2009 तक हर घर में बिजली पहुंचाएंगे, लेकिन 2014 तक आप बैठे रहे।

रैली के दौरान पीएम ने कहा ऐसी खबरें मिल रहीं थीं कि कर्नाटक में भाजपा की हवा चल रही है, लेकिन आज देखकर लग रहा है कि ये हवा नहीं आंधी चल रही है। हम कर्नाटक में बदलाव की बयार को बेकार नहीं जाने देंगे। मजदूर दिवस का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज 1 मई को गुजरात और कर्नाटक का स्थापना दिवस है। आज के दिन को मजदूर दिवस भी मनाया जाता है। मैं कारीगर और मजदूर भाइयों को आज का दिन समर्पित करना चाहता हूं।