लक्ष्य पूरा नहीं करने वाले ब्लॉक अध्यक्षों की होगी छुट्टी

congress shakti project
congress shakti project

सुरेश बोड़ा/जयपुर/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से प्रदेश में शुरू किए गए पायलट प्रोजेक्ट ‘शक्ति’ के अंतर्गत निर्धारित लक्ष्य पूरे नहीं करने वाले ब्लॉक अध्यक्षों की छुट्टी होनी तय मानी जा रही है। इस अभियान को लेकर राजस्थान कांग्रेस के उपाध्यक्ष मुमताज मसीह ने भी बड़ा बयान दिया है। उन्होंने प्रदेश के सभी 400 ब्लॉक अध्यक्षों को लक्ष्य पूरा करने की चेतावनी दी है।

उपाध्यक्ष मसीह ने मीडिया को बताया कि अब यदि नेताओं ने इस अभियान में भागीदारी नहीं निभाई तो उनकी कुर्सी खतरे में पड़ जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी ब्लॉक अध्यक्षों को अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभाते हुए अपने लक्ष्य पूरा करना होगा। ऐसा नहीं करने वालों को उनकी वर्तमान जगह से शिफ्ट किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी के शक्ति प्रोजेक्ट के तहत पूरे प्रदेश में पहले एक लाख शक्ति मेंबर्स बनाने का लक्ष्य तय किया गया था, जिसे बाद में बढ़ाकर दो लाख कर दिया। अब लक्ष्य को और बढ़ाया जा रहा है। सभी 400 ब्लॉक अध्यक्षों को निर्देश दिए गए हैं कि 30 जुलाई तक सभी को 200 शक्ति मेंबर बनाने हैं। फिलहाल प्रदेश में कुल ढाई लाख लाख शक्ति मेंबर बन चुके हैं। इनमें से जयपुर में करीब 22 हजार मेंबर बने हैं। प्रदेश के कई ब्लॉक अध्यक्ष मेम्बर बनाने के मामले में पूरी तरह निष्क्रिय साबित हुए है। कई जगह गलत ब्लॉक अध्यक्ष लगने के भी आरोप लग रहे हैं। इन्हें हटाने की मांग जोर पकड़ रही है। अब दिए गए लक्ष्य को पूरा नहीं करने पर ऐसे ब्लॉक अध्यक्षों की छुट्टी तय हो जाएगी।

अन्य पदाधिकारियों को भी मिलेगा लक्ष्य

पार्टी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट में कार्यकर्ताओं के लिए ब्लॉक के बाद जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों को भी लक्ष्य दिए जाएंगे। राजस्थान कांग्रेस उपाध्यक्ष मुमताज मसीह ने संकेत दिए हैं कि 30 जुलाई के बाद प्रदेश में जिलों की कार्यकारिणी में पदाधिकारियों, पीसीसी सदस्य और पीसीसी पदाधिकारियों को शक्ति प्रोजेक्ट के तहत लक्ष्य दिए जा सकते हैं।