बीकानेर के साहित्यकार ने किया बाइबिल का राजस्थानी में अनुवाद

5084
Shankar Singh Rajpurohit
Shankar Singh Rajpurohit

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। बीकानेर के प्रसिद्ध साहित्यकार शंकर सिंह राजपुरोहित ने बाइबिल का राजस्थानी भाषा में अनुवाद किया है। राजस्थानी भाषा की मान्यता के लिए संघर्ष कर रहे प्रदेश के लोगों के लिए भी यह एक अच्छी खबर कही जा सकती है। अब बाइबिल के जरिये ही सही, राजस्थानी भाषा की पहुंच विश्व के अनेक देशों तक होने वाली है।

ईसाई समुदाय के पवित्र धर्मग्रंथ बाइबिल के अनुवाद के क्षेत्र में सक्रिय वल्र्ड बाइबिल ट्रांसलेशन सेंटर (डब्ल्यूबीटीसी) ने दुनिया की 16 भाषाओं में बाइबिल का अनुवाद करवाया है जिसमें राजस्थानी भाषा भी शामिल है। बाइबिल का राजस्थानी में अनुवाद बीकानेर के राजस्थानी साहित्यकार शंकरसिंह राजपुरोहित ने किया है। वे अब तक कई पुस्तकें राजस्थानी में अनुवाद कर चुके हैं। बाइबिल का अनुवाद पूरा हो चुका है और जल्द ही यह किताब के रूप में सामने आने वाला है।

इस अनुवाद का अंतिम पठन करने राजपुरोहित संस्था के निमंत्रण पर बेंगलुरू गए हुए हैं। उन्होंने बताया कि बाइबिल के अनुवाद के लिए संस्था ने राजस्थान से तीन राजस्थानी साहित्यकारों के नाम पर विचार किया था, जिनमें से अंतिम रूप से मुझे यह जिम्मेदारी मिली। यह अनुवाद करीब 1450 पेजों तक पहुंचेगा। इसका अनुवाद न्यू टेस्टामेंट और ओल्ड टेस्टामेंट दो चरणों में होगा। अभी तक न्यू टेस्टामेंट का अनुवाद पूरा हो चुका है जिसमें करीब साढ़े चार सौ पेजों का अनुवाद किया गया है।

राजस्थानी की समृद्धि बढ़ेगी

राजस्थानी भाषा की पहुंच विश्व के सभी साहित्य तक होने से इसे और समृद्धि मिलेगी। यह मेरे लिए खुशी की बात है कि मुझे बाइबिल जैसे ग्रंथ का राजस्थानी अनुवाद करने का मौका मिला। -शंकर सिंह राजपुरोहित, राजस्थानी साहित्यकार