बीकानेर में शुद्ध देशी घी मिलेगा 1500 रुपए किलो!

948
sughandhi ghee Launching
sughandhi ghee Launching

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। देशी गाय के दूध में अमृत समान शक्ति होती है। रोगों से लडऩे की क्षमता देशी गाय के दूध से ही मिलती है। देशी गाय के दूध से बना घी स्वास्थ्य के लिए बेहद आवश्यक है। थारपारकर, साहीवाल आदि देशी नस्ल की गायों के दूध से आयुर्वेदिक पद्धति से तैयार ‘सुगन्धि घी’ बीकानेर में 1500 रुपए प्रति किलो दर पर मिलेगा, जबकि कॉमर्शियल वेबसाइट अमेजन पर यह घी 2400 रुपए प्रति किलो की दर से उपलब्ध होगा।

बालाजी ऑर्गेनिक डेयरी प्रोडेक्ट के निदेशक निर्मल कुमार ललवाणी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीकानेर के बीछवाल और कोडमदेसर में थारपारकर, साहीवाल आदि देशी नस्ल की कुल ढाई हजार गायें हैं। इनसे रोजाना 1500 लीटर दूध मिलता है। इस दूध को साढ़े चार घंटे तक धीमी आंच पर पकाया जाता है और बेहद धीमी प्रक्रिया के बाद इसमें महज 50 किलो शुद्ध देशी घी तैयार होता है। उन्होंने बताया कि आज गांवों में बिलौने का घी बड़ी मुश्किल से मिलता है।

ललवाणी ने बताया कि बालाजी ऑर्गेनिक डेयरी प्रोडेक्ट के देशी गाय उत्पाद निर्माण इकाई का सुगन्धि देशी घी प्रॉडेक्ट बीकानेर में लाँच किया जा रहा है। इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बालाजी ऑर्गेनिक के अशोक कुमार जांगू ने बताया कि देशी और विदेशी गाय के दूध में दिन-रात का अंतर होता है। देशी गाय के दूध से बना घी स्वादिष्ट तो होता ही है, साथ ही सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

ललवाणी ने बताया कि 17 मई शाम सात बजे वेटनरी कॉलेज ऑडिटोरियम में स्वामी केशवानन्द राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बी. आर. छींपा, अंजनी इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड के पन्नालाल शर्मा, भारतीय जीवन बीमा निगम के वरिष्ठ मंडल प्रबंधक सुधांशु मोहन मिश्र, उद्योगपति जयचन्दलाल डागा व उद्योगपति बसन्त नौलखा के मुख्य आतिथ्य में सुगन्धि घी की लाँचिंग की जाएगी।