बीकानेर में गौ रक्षकों की कमी नहीं : चित्प्रकाशानंद गिरी

253
श्रीअग्रसेन भवन में मंगलवार को श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान के अंतिम दिन यज्ञ में आहुति देते यजमान।
श्रीअग्रसेन भवन में मंगलवार को श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान के अंतिम दिन यज्ञ में आहुति देते यजमान।

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। वृंदावन से बीकानेर आए हुए महामंडलेश्वर स्वामी चित्प्रकाशानंद गिरी महाराज ने कहा है कि बीकानेर में गौ रक्षकों की कोई कमी नहीं है। यहां के लोग धर्मप्रेमी हैं, इसलिए दयालु भी है। नौ दिन तक चले श्रीमद्भागवत कथा यज्ञ के दौरान यहां के लोगों ने गौ सेवा का जो संकल्प लिया उसे वे भली-भाति निभाएंगे, ऐसा मुझे विश्वास है। यज्ञ के अंतिम दिन पूर्णाहुति के मौके पर उन्होंने यह विचार व्यक्त किए। उन्होंने गायों की सेवा का आह्वान करते हुए कहा कि गायों की रक्षा करना हमारा परम धर्म है। हमें अपने नित्य कर्मों में गाय की सेवा के लिए भी समय निकालना चाहिए, तभी सही मायने में गाय माता की सेवा हो सकेगी।

श्रीअग्रसेन भवन में गौ सेवार्थ आयोजित श्रीमद्भागवत कथा यज्ञ की पूर्णाहुति मौके पर हवन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में गौसेवी उमड़े। गौरतलब है कि गौ सेवार्थ आयोजित इस कथा यज्ञ में शहर के प्रबुद्धजनों ने भागीदारी निभाई। रविवार को जहां एस. पी. मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आर. पी. अग्रवाल सपत्नीक कथा यज्ञ में शामिल हुए। उन्होंने स्वामी चित्प्रकाशानंद महाराज से आशीर्वाद लेते हुए गौ सेवा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जताई। सोमवार को पूर्व मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला, यज्ञ के अंतिम दिन हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. देवेन्द्र अग्रवाल ने भागीदारी निभाई। उनके साथ जन्मेजय व्यास सहित अनेक जनों ने स्वामी चित्प्रकाशानंद महाराज से आशीर्वाद लिया।

इससे पहले नगर विकास न्यास अध्यक्ष महावीर रांका, वरिष्ठ भाजपा नेता एडवोकेट ओम आचार्य, ब्रह्मदेव आचार्य सहित अनेक प्रबुद्धजनों ने भी कथा यज्ञ के महत्व पर प्रकाश डाला। कथा के दौरान गौसेवी श्रीभगवान अग्रवाल, रमेश अग्रवाल (कालू), बाबूलाल अग्रवाल, बनवारीलाल, गौरीशंकर, पवन सिंघानिया, गोपाल अग्रवाल, सागर अग्रवाल, सुशील अग्रवाल, बुलाकी अग्रवाल, जय किशन अग्रवाल, गोपीराम अग्रवाल, राजाराम, चंद्रेश कुमार, रामजी ठेकेदार, प्रहलाद दास आदि ने व्यवस्थाओं की बागडोर संभाली।

स्व. मोहिनी देवी धर्मपत्नी बालकिशन अग्रवाल की स्मृति में आयोजित इस कथा यज्ञ के मुख्य यजमान बाबूलाल अग्रवाल थे। आयोजन और गौशाला से जुड़े गौसेवी श्रीभगवान अग्रवाल, माणकचंद चौधरी, रमेश कुमार अग्रवाल (कालू) ने बताया कि स्वामी चित्प्रकाशानंद गिरी के आह्वान पर कथा यज्ञ के दौरान बड़ी संख्या में गौसेवी सहयोग के लिए आगे आए हैं।