अरबाज खान ने माना- आईपीएल सट्टे में गंवाए थे 2.75 करोड़ रुपए

Arbaaj khan
Arbaaj khan

नई दिल्ली। सिने अभिनेता सलमान खान के भाई अभिनेता अरबाज खान ने पुलिस की पूछताछ में मान लिया है कि वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईंपीएल) की सट्टेबाजी में शामिल थे। समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से आई खबर के मुताबिक अरबाज खान ने ये कबूल कर लिया है कि उन्होंने पिछले साल आईपीएल के मैचों में सट्टा लगाया था और 2.75 करोड़ रुपए हारे थे। अरबाज ने बताया है कि वह पिछले 6 सालों से सट्टेबाजी में हैं, लेकिन इस साल कोई सट्टा नहीं लगाया है।

इससे पहले अरबाज़ खान तकरीबन 11 बजे ठाणे में क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचे। अरबाज के साथ सलमान के बॉडीगार्ड शेरा और वकील भी मौजूद हैं। क्राइम ब्रांच के अधिकारी प्रदीप शर्मा, अरबाज खान के साथ कमरे में मौजूद हैं। प्रदीप शर्मा के साथ दो और पुलिस अधिकारी अरबाज खान से पूछताछ कर रहे हैं। इससे पहले पुलिस ने 29 मई को सट्टेबाज सोनू जालान को गिरफ्तार किया, जिससे पूछताछ करने पर अरबाज़ खान का नाम सामने आया।

एईसी ने बुलाया पूछताछ के लिए

ठाणे की एंटी एक्सटॉर्शन सेल (एईसी) ने शुक्रवार को अरबाज को इस मामले में समन जारी कर पूछताछ के लिए शनिवार को बुलाया था। एईसी के प्रमुख प्रदीप शर्मा ने कहा- सोनू हाल ही में संपन्न टी-20 टूर्नामेंट के दौरान कथित रूप से अरबाज के संपर्क में था। सोनू ने कई हस्तियों का पैसा आईपीएल सट्टेबाजी में लगाने की बात कबूली है। सूत्रों के अनुसार अरबाज ने पिछले साल टी-20 सट्टेबाजी में कथित रूप से 2.83 करोड़ रुपए गंवाए। हम उसके बैंक खातों की जांच करना चाहते हैं।

ठाणे पुलिस ने आईपीएल मैचों की सट्टेबाजी की सूचना मिलने पर 16 मई को एक दुकान पर छापा मारा था, जहां से सोनू जालान को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस के अनुसार जालान कई गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल था। उसने इसके लिए कई घर और ऑफिस ले रखे थे और इनके लिए वह दो लाख रुपए किराया चुकाता था।

चार साल पहले हुई सोनू से मुलाकात

एईसी अधिकारी के हवाले से आई खबर के अनुसा अरबाज खान और सोनू जालान की मुलाकात करीब चार साल पहले हुई थी। बाद में दोनों ही अच्छे दोस्त बन गए। इसके बाद जालान के सट्टेबाजी बिजनेस में खान जुड़ गए। ऐसा भी ज्ञात हुआ कि खान ने सट्टेबाजी में हारी हुई रकम भी जालान को नहीं दी। गौरतलब है कि अरबाज खान बतौर एक्टर फ्लॉप साबित हुए हैं। शुरुआत से लेकर अब तक उनकी कई फिल्में रिलीज हुईं, लेकिन कभी भी बड़ी सफलता नहीं मिल सकी।