…और संगीत संध्या में झूम उठे वृद्धजन

205
जयपुर रोड पर स्थित वृंदावन एनक्लेव के आश्रम में आयोजित संगीत संध्या में प्रस्तुति देतीं गायिका।
जयपुर रोड पर स्थित वृंदावन एनक्लेव के आश्रम में आयोजित संगीत संध्या में प्रस्तुति देतीं गायिका।

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। माँ शारदे कला संस्थान के तत्वावधान में वृद्धजनों के लिए जयपुर रोड स्थित वृन्दावन एन्क्लेव के अपना घर आश्रम में संगीत संध्या का आयोजन किया गया। इसमें कलाकारों की ओर से दी गई प्रस्तुतियों के दौरान वृद्धजन झूम उठे।

जयपुर रोड पर वृंदावन एनक्लेव स्थित आश्रम में आयोजित संगीत संध्या में प्रस्तुति देते गायक रतनदीप बिस्सा।
जयपुर रोड पर वृंदावन एनक्लेव स्थित आश्रम में आयोजित संगीत संध्या में प्रस्तुति देते गायक रतनदीप बिस्सा।

कार्यक्रम में प्रसिद्ध गायक रतनदीप बिस्सा ने ‘चल मुसाफिर तेरी मंजिल दूर है तो क्या हुआ…’ गीत की प्रस्तुति देकर वाहवाही बटोरी। वहीं गायिका संगीता दम्माणी ने ‘तुम्हीं मेरे मंदिर, तुम्हीं मेरी पूजा…’ गीत के माध्यम से उपस्थित जनों को भक्ति भाव में डूबो दिया। गायक योगेन्द्र जांगिड़ ‘छुप गए सारे नजारे…’ गीत की प्रस्तुति दी गई तो माहौल संगीतमय हो गया और उपस्थित वृद्धजनों ने आनन्द लेते हुए गीत पर थिरकना शुरू कर दिया। संगीत संध्या में सोनू जोशी, रामदेव अग्रवाल, सतीश कपूर, धर्मेन्द्र सोनी, अरुण जैन, ज्ञान सिंह सहित अनेक गणमान्यजन उपस्थित रहे। मंच संचालन रोहित बोड़ा ने किया। इस अवसर पर संस्थान के कोषाध्यक्ष सुशील कुमार दम्माणी ने बताया कि संगीत संध्या का मुख्य उद्देश्य यही था कि वृद्धजनों के भी जीवन में खुशी का संचार हो।